Logo
ब्रेकिंग
Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l

भारत-अमेरिका के रक्षा मंत्रियों के बीच हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता, रक्षा सहयोग बढ़ाने पर बनी सहमति

नई दिल्ली। अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन भारत दौरे पर हैं। भारत के तीन दिनों के दौरे पर दिल्ली पहुंचे अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच दिल्ली के विज्ञान भवन में आज बैठक हुई। इस बैठक में भारत और अमेरिका के प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। इस बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा की गई। इस बैठक के बाद भारत और अमेरिका की ओर से संयुक्त बयान जारी किया गया। इसमें कहा गया कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को आगे बढ़ाने पर सहमति हुई है। जानिए इससे जुड़ी सभी अपडेट..

India-US Talks Updates:

भारत-अमेरिका के बीच रक्षा में सहयोग बढ़ाने पर सहमति

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता विज्ञान भवन में संपन्न हुई। इसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारत-अमेरिका के संयुक्त बयान जारी करते हुए भारत की ओर से कहा कि मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि सचिव ऑस्टिन और उनके प्रतिनिधिमंडल के साथ हमारी व्यापक और उपयोगी बातचीत हुई।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हम व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी की पूरी क्षमता का एहसास करने के लिए दृढ़ हैं। रक्षा-सहयोग पर व्यापक रूप से बातचीत, सैन्य विस्तार से सैन्य विस्तार, सूचना साझा करना और रक्षा और पारस्परिक रसद समर्थन के उभरते क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा हुई।

उन्होंने कहा कि हमने कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय अभ्यासों की भी समीक्षा की और हमने भारतीय सेना, यूएस इंडो-पैसिफिक कमांड, सेंटर कमांड और अफ्रीका कमांड के सहयोग में वृद्धि के लिए सहमति व्यक्त की। हमने LEMOA, COMCASA और BECA समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं और हम उनकी पूर्ण क्षमता का एहसास करने के लिए सहमत हुए हैं।

अमेरिका रक्षा मंत्री का बयान

राजनाथ सिंह के बाद अमेरिका रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने भी बयान दिया। उन्होंने कहा कि हमारा संबंध स्वतंत्र और खुले भारत-प्रशांत क्षेत्र का एक गढ़ है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने कहा कि भारत अंतरराष्ट्रीय कानून के पालन में नेविगेशन और स्वतंत्रता की स्वतंत्रता के लिए खड़ा है। यह क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए हमारे साझा दृष्टिकोण की पुष्टि करता है।

ऑस्टिन ने आगे कहा कि  मैं इस सप्ताह के शुरू में एक भारतीय वायु सेना के पायलट (आशीष गुप्ता) की दुखद दुर्घटना में मौत के लिए अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि भारत तेजी से अंतरराष्ट्रीय गतिशीलता में बदलाव करने में एक महत्वपूर्ण भागीदार है। मैं भारत-प्रशांत क्षेत्र के लिए हमारे दृष्टिकोण के एक केंद्रीय स्तंभ के रूप में भारत के साथ एक व्यापक फॉरवर्ड दिखने वाली रक्षा साझेदारी के लिए हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता हूं।

विज्ञान भवन में हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता

इससे पहले दिल्ली के विज्ञान भवन में भारत और अमेरिका के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने विज्ञान भवन में प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता की। इस बैठक में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और तीनों सेना प्रमुख भी मौजूद रहे।

– इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विज्ञान भवन में अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन की अगवानी की। अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन को विज्ञान भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

– अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने आज सबसे पहले दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक(नेशनल वॉर मेमोरियल) पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

पीएम मोदी-डोभाल से अमेरिकी रक्षा मंत्री की मुलाकात

भारत पहुंचते ही अमेरिकी रक्षा मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल से मुलाकात की। पहले ही दिन पीएम मोदी और एनएसए अजित डोभाल से उनकी मुलाकात के गहरे मायने हैं। राष्ट्रपति जो बाइडन के सत्ता संभालने के बाद भारत की यात्रा करने वाले पहले वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक ऑस्टिन की दो दिन की यात्रा कूटनीतिक मुलाकातों और चर्चाओं के लिहाज से काफी व्यस्त रहेगी।