Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर बोले वेंकैया नायडू- सतर्क रहें, कोरोना के नियमों का पालन करें

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को सदन के सभी सदस्यों से आग्रह किया कि वे अत्यधिक सतर्कता बरतें और कोरोना से बचाव के लिए सभी नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करें। उन्होंने सदस्यों से पात्र लोगों को भी कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया।

राज्यसभा में शुक्रवार को सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति नायडू ने कहा, ‘जो सदस्य यहां मौजूद हैं और जो बाहर हैं, मै उन सभी से कहना चाहता हूं कि वह कोरोना को लेकर फिलहाल अतिरिक्त सतर्कता बरतें। यह इसलिए जरूरी है, क्योंकि सभी क्षेत्र में जनता के बीच वह जाते है। मुझे पता है कि वे कमरों में बंद नहीं हो सकते हैं। ऐसे में जनता से मिलने और क्षेत्रों में रहने के दौरान उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय, राज्य सरकारों और स्थानीय प्रशासन के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि सिर्फ सांसदों को ही नहीं,बल्कि देश की जनता को भी सतर्क रहने की जरूरत है। नायडू ने कहा कि हाल ही में जहां भी कोरोना के मामले में बढ़ोतरी हुई है, वहां नियमों का पालन नहीं करने से हुई है। ऐसे में हमें स्थिति को बिगड़ने नहीं देना है। दुनिया ने देखा कि हमने कोरोना के पहले फेज का किस तरह से सामना किया है, जिसके चलते हमें दुनिया के विकसित देशों के मुकाबले कम नुकसान हुआ है। ऐसे में हमें इस सतर्कता और अनुशासन को बनाए रखना है। उन्होंने सांसदों और उनके परिवार के सदस्यों के लिए सप्ताह के अंत में चलाए जाने वाले टीकाकरण अभियान की भी जानकारी दी, जिसमें सभी सांसद और उनके परिजन टीका लगवा सकते हैं।