Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

लखनऊ शताब्दी की जेनरेटर कार में लगी आग, 1 घंटा 35 मिनट की देरी से रवाना हुई ट्रेन

नई दिल्ली/गाजियाबाद।दिल्ली से चलकर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ जाने वाली लखनऊ शताब्दी के यात्रियों में शनिवार सुबह उस समय हड़कंप मच गया, जब ट्रेन की जेनरेटर कार में आग लग गई। इसके चलते ट्रेन गाजियाबाद स्टेशन से 1 घंटा 35 मिनट की देरी से रवाना हुई, क्योंकि आग पर काबू पाने में काफी समय लग गया। मिली जानकारी के मुताबिक, शनिवार सुबह बजकर 45 मिनट पर लखनऊ शताब्दी ट्रेन की जेनरेटर कार में आग लग गई। हादसे के एक घंटे बाद पहुंचे दमकलकर्मियों ने ट्रेन से जेनरेटर कार को अलग किया गया। आग पर पूरी तरह से काबू पाने के बाद ही ट्रेन को लखनऊ के लिए रवाना किया।

 सुनील कुमार सिंह (मुख्य अग्निशमन अधिकारी, गाजियाबाद) का इस पूरे हादसे पर कहना है कि शनिवार सुबह सात बजे सूचना मिली कि शताब्दी एक्सप्रेस में आग लगी है। तत्काल 6 गाड़िया भेजी गईं। देखा गया कि आग ट्रेन के सबसे पिछले बोगी जनरेटर व लगेज यान में लगी थी तत्काल बोगी को ट्रेन के अन्य हिस्से से अलगकर आग बुझाने की कार्रवाई प्रारम्भ की गई। आग से दोनों दरवाजे खुले नहीं रहे थे। उन्हें तोड़कर आग को पूर्ण रूप से बुझा दिया गया। कोई जनहानि नहीं हुई है।

वहीं, इससे पहले नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से चलने वाली लखनऊ मेल में बृहस्पतिवार देर रात विस्फोट की धमकी के चलते गाजियाबाद में हड़कंप मच गया। बताया गया कि यूपी-112 पर मिली बम की धमकी की सूचना दिल्ली कंट्रोल रूम को दी गई थी, लेकिन तब तक ट्रेन दिल्ली से चल चुकी थी। इसके बाद आनन-फानन में लखनऊ मेल ट्रेन को गाजियाबाद जंक्शन पर रोककर सघन तलाशी ली गई। आरपीएफ, जीआरपी और गाजियाबाद पुलिस ने लखनऊ मेल के हर कोच का कोना-कोना छाना। एक घंटे बाद कुछ नहीं मिलने की पुष्टि होने पर अधिकारियों ने राहत की सांस ली और ट्रेन को रवाना किया।