Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

बिहार के सुपौल में बड़ी वारदात : एक साथ फंदे से झूलते मिले परिवार के पांच सदस्‍य, दुर्गंध से खुला राज

पटना/ भागलपुर/ सुपौल:  बिहार के सुपौल (Supaul) जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र (Raghopur Police Station) के गद्दी गांव (Gaddi Village) के वार्ड चार में एक घर के अंदर से एक ही परिवार के पांच सदस्‍यों के शव मिले हैं। सभी शव घर के अंदर एक ही कमरे में फंदे से लटके मिले हैं। इनमें पति-पत्‍नी, दो बेटियां और एक बेटा शामिल है। यह घर पिछले कुछ दिनों से बंद था और घर के सदस्‍य किसी को बाहर नहीं दिखे थे। आसपास के लोगों को काफी तेज दुर्गंध महसूस होने पर अनहोनी की आशंका से इस घर की पड़ताल की गई तो पूरा मामला सामने आया।

घटना की सूचना मिलते ही खुद पहुंचे एसपी

इस खौफनाक वारदात की सूचना मिलते ही आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई। स्‍थानीय ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची राघोपुर थाने की पुलिस भी घर के अंदर का नजारा देखकर हैरान रह गई। थाने के स्‍तर से इस बड़ी वारदात की सूचना तुरंत वरीय अधिकारियों को दी गई। सूचन मिलते ही एसपी मनोज कुमार खुद ही घटनास्‍थल पर पहुंच गए

फोरेंसिक टीम के आने का हो रहा इंतजार

वारदात की जांच के लिए पुलिस फोरेंसिक टीम के आने का इंतजार कर रही है। पुलिस हर पहलू से मामले की जांच कर रही है। हालांकि प्रथम दृष्‍टया मामला सामूहिक आत्‍महत्‍या का माना जा रहा है। गांव वाले भी ऐसा ही अंदेशा जाहिर कर रहे हैं।

गांव वालों से अधिक संपर्क नहीं रखता था परिवार

यह परिवार गांव वालों से अधिक संपर्क नहीं रखता था। गांव वालों का यह भी कहना है कि परिवार का कोई भी सदस्‍य पिछले कुछ दिनों से मुहल्‍ले में दिखा नहीं था। इससे अंदेशा जताया जा रहा है कि कम से कम दो-तीन दिन पहले ही सभी सदस्‍यों की मौत हो गई होगी। परिवार पर कर्ज और गरीबी की बात भी चर्चा में है।