Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

अरविंद केजरीवाल ने की गृहमंत्री अमित शाह की तारीफ, कहा- कोरोना काल में बेहतर काम किया

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के तीसरे दिन बुधवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी बात रखी। इस दौरान उन्होंने कोरोना काल के दौरान किए गए कामों को सराहा। इसी के साथ अरविंद केजरीवाल ने गृहमंत्री अमित शाह की भी तारीफ की। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना काल कठिन समय था। ऐसे समय में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी बेहतरीन काम किया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना काल के दौरान राजधानी आम आदमी पार्टी सरकार ने जनता के साथ मिलकर बेहतर से बेहतर काम करने की कोशिश की। उन्होंने यह भी कहा कि जिस भी तरीके से सरकार जनता की सेवा कर सकती थी, सरकार ने की। इस दौरान सभी ने बेहतर काम किया।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि कोरोना काल के दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह जी ने बेहतर काम किया है। बता दें कि दिल्ली में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच अमित शाह ने ताबड़तोड़ बैठकें करके कई अहम कदम उठाए थे। इसके बाद कोरोना के मामलों में कमी भी आई थी। सदन में अपनी बात रखते हुए अरविंद केजरीवाल ने विपक्ष की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि भाजपा के विधायकों ने भी बेहतर काम किया है। यह संकट इतना बड़ा था कि किसी एक सरकार के बस की बात नहीं थी। सबसे बड़ी बात है कि डाक्टरों ने सबसे बेहतर काम किया। वह नहीं करते तो सब कैसे होता।

इस दौरान उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने एक स्कूल में निरीक्षण करने गए तो उस कक्षा में दिख रहा था कि 12 कुर्सियां ही थीं। ऐसे में बच्चे कैसे पढ़ाई कर रहे होंगे? आप खुद समझ रहे होंगे। दूसरे राज्याें के नेताओं को स्कूलों में क्यों जाना पड़ रहा है, क्योंकि ऐसा दिल्ली सरकार के कारण हो रहा है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इससे कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के स्कूल देखने गए थे। उससे योगी आदित्यनाथ जो को भी लगा कि हमें भी अपने स्कूल देख लेना चाहिए कि स्कूलों की उन्होंने क्या हालत कर रखी है।