Logo
ब्रेकिंग
Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार

केरल स्वतंत्र, निष्पक्ष और विश्वसनीय चुनाव कराने के लिए तैयार,12 मार्च को जारी होगी अधिसूचना

तिरुवनंतपुरम। देश में पांच राज्यों में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इसमें केरल भी शामिल है। हाल ही में चुनाव आयोग ने इन पांच राज्यों में चुनावी तारीखों का एलान किया है, जिसके बाद केरल मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वह केरल में स्वतंत्र, निष्पक्ष और विश्वसनीय चुनाव कराने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने कहा कि अधिसूचना 12 मार्च को जारी की जाएगी। आगे उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के सभी अधिकारियों को निर्देश जारी किए जा चुके हैं कि आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित करें। बता दें कि केरल में 6 अप्रैल, 2021 को विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसका परिणाम 2 मई 2021 के दिन आएगा। इस राज्य में कुल140 विधानसभा सीट के लिए चुनाव आयोजित किए जाएंगे।

साल 2016 में इस पार्टी की हुई थी जीत

केरल विधानसभा चुनाव से पहले चुनावी समीकरण की बात करें तो यहां पर साल 2016 में विधानसभा चुनावों में CPIM के नेतृत्व वाले गठबंधन LDF ने 91 सीटों पर जीत दर्ज की थी और सरकार बनाई थी। इसी प्रकार कांग्रेस के UDFगठबंधन को केरल विधानसभा 2016 के चुनावों में 47 सीटें मिलीं थीं।

साल 2016 के केरल विधानसभा चुनाव के परिणामों की बात करे तो लेफ्ट गठबंधन (LDF) वाली सीपीआई (एम) को 56 सीटें मिलीं थीं, सीपीआई को 19 सीटें मिली थी। जनता दल (सेक्युलर) पार्टी को 3 सीटें मिली थीं और एनसीपी को 2 सीटें मिलीं थीं। वहीं UDF गठबंधन वाली कांग्रेस को 22 सीटें मिलीं थीं, IUML (Indian Union Muslim League) को 18 सीटें मिलीं थीं, केरल कांग्रेस (एम) को 6 सीटें हासिल की थी। इन सबके हटके तीसरा गठबंधन भाजपा का भी था,लेकिन उसमें से किसी भी पार्टी एक भी सीट नहीं मिल पाई थी, बस भाजपा को ही वहां एक सीट मिल सकी थी।