कांग्रेस नेता अधीर रंजन की अपील- चुनावों के दौरान हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ हो एक्शन

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। इस बीच चुनावों के ऐलान के साथ ही इस पर जमकर सियासत भी शुरू हो गई है। ममता समेत कई विपक्षी नेता चुनावों की तारीखों को लेकर बयान दे चुके हैं। इस बीच कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी भी बंगाल चुनावों को लेकर राजनीति में उतरे हैं। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने चुनाव आयोग (ईसी) से उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया है जो पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान हिंसा फैलाने की कोशिश करेंगे।

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन ने कहा कि हमने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि जो लोग पश्चिम बंगाल में आठ चरण के विधानसभा चुनावों के दौरान हिंसा फैलाने की कोशिश करते हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से हों।

ममता ने उठाए सवाल

बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव कराने के आयोग के फैसले पर राज्य की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस ( सुप्रीमो ममता बनर्जी ने सवाल उठाया है। चुनाव तारीखों की घोषषणा के तुरंत बाद उन्होंने संवाददाता सम्मेलन कर चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के कहने पर ऐसा किया जा रहा है।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को घोषणा की कि चार राज्यों, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, असम और एक केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में कुल 824 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव होंगे। इन राज्यों में मतदान 27 मार्च से शुरू होगा और 29 अप्रैल को समाप्त होगा। चार राज्यों और एक केन्द्र शासित प्रदेशों के चुनावों की मतगणना 2 मई को होगी।

पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होंगे। यहां पहले चरण के चुनाव 27 मार्च से शुरू होंगे और 27 अप्रैल को आखिरी चरण के मतदान होंगे। पश्चिम बंगाल की 16 वीं विधानसभा का कार्यकाल इस वर्ष 30 मई को समाप्त होगा। पश्चिम बंगाल की 17 वीं विधानसभा के लिए कुल 7,34,07,832 मतदाता अपने प्रतिनिधि का चयन करेंगे।

Whats App