Logo
ब्रेकिंग
भव्य कलश यात्रा के साथ माता वैष्णों देवी मंदिर का 32वां वार्षिकोत्सव शुरू रामगढ़ में मनाया गया 74 वां गणतंत्र दिवस, विभिन्न कार्यालयों द्वारा निकाली गई झांकी माँ की ममता से दूर जेल में बंद पूर्व विधायक मामता देवी का दूधमुहा बच्चा बीमारी की गिरफ्त में । माता वैष्णों देवी मंदिर के 32वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 26 को सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर याद किए गए नेताजी, रामगढ़ से जुड़ा है नेताजी के कई लम्हो का नाता । स्वीप के तहत जिला प्रशासन एकादश एवं दिव्यांग एकादश के बीच हुआ क्रिकेट मैच का आयोजन । नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती एवं पराक्रम दिवस के अवसर पर माल्यार्पण कार्यक्रम का हुआ आयोजन । रामप्रसाद चंद्रभान सरस्वती विद्या मंदिर में संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन। मेदांता रांची द्वारा अधिवक्ता संघ परिसर में लगाया गया निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर । रामगढ़ विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस के पदाधिकारियों की हुई बैठक ।

फसल बर्बाद के बाद अब टिकैत की गोदाम तोड़ने की धमकी, बोले-पुलिस नहीं रोक पाएगी ट्रैक्टरों को

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के तहत किसान नेता राकेश टिकैत गुरुवार को राजस्थान के करौली जिले में महापंचायत में शामिल हुए। इस महापंचायत में हजारों किसान जुटे हुए थे। टिकैत ने इस दौरान किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि जल्द 40 लाख  ट्रैक्टरों के साथ हम संसद की तरफ कूच करेंगे। टिकैत ने कहा कि हमारा अगला टारगेट अनाज के गोदाम हैं। टिकैत ने कहा कि अब अनाज के गोदाम तोड़े जाएगा। सरकार अगर इनका अधिग्रहण कर सकती है तो कर ले वर्ना व्यापारियों के गोदाम टूटेंगे

ओपन जीप में सवार होकर पहुंचे टिकैत
राकेश टिकैत महापंचायत में एक खुली जीप में सवार होकर मंच पर पहुंचे। लोगों ने माला और 101 फीट का साफा पहना कर और हल भेंट कर टिकैत का स्वागत किया। सभा में टिकैत ने कहा कि सरकार किसानों की अनदेखी कर रही है। किसानों का आंदोलन जारी रहेगा और हमारा अगला टारगेट अब अनाज गोदाम होंगे।

पुलिस में ट्रैक्टर रोकने की हिम्मत नहीं
टिकैत ने कहा कि ट्रैक्टर बैरियर तोड़ने के लिए ही होते हैं और पुलिस में इतनी हिम्मत नहीं कि वो किसानों के ट्रैक्टर रोक सके। टिकैत ने कहा कि पुलिस न तो पहले हमारे ट्रैक्टर रोक सकी है और न आगे रोक पाएगी। टिकैत ने किसानों को कहा कि तैयार रहो हम फिर दिल्ली की तरफ कूच करेंगे। साथ ही टिकैत ने कहा कि मुझपर कई मुकद्दमे चल रहे हैं, मुझे पता है कि इसके बाद मुझे 12-13 साल तिहाड़ जेल में रहना लेकिन कम से कम किसान तो आजाद हो जाएगा फिर हमें कोई दिक्कत नहीं होगी। बता दें कि राकेश टिकैत ने कहा था कि आपको अपनी एक फसल का बलिदान करने के लिए तैयार रहना होगा। टिकैत के इस आह्वान पर कई किसानों ने अपनी खड़ी फसलें नष्ट कर दी। कई किसानों ने हरी-भरी फसलों पर ट्रैक्टर चला दिया।

nanhe kadam hide