अहमदाबाद के मोटेरा में राष्ट्रपति कोविंद ने किया ‘नरेंद्र मोदी स्‍टेडियम’ का उद्घाटन

अहमदाबाद। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने अहमदाबाद के मोटेरा में सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में दुनिया के सबसे क्रिकेट स्‍टेडियम ‘नरेंद्र मोदी स्‍टेडियम’ ( Narendra Modi Stadium) का उद्घाटन  किया। इस खास मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, खेल मंत्री किरेन रिजिजू और गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल भी उपस्थित थे। मोटेरा स्थित ‘नरेंद्र मोदी स्‍टेडियम’ में आज भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच खेला जाएगा।

इस खास मौके पर  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव और नरेंद्र मोदी स्टेडियम के साथ मिलकर, नारनपुरा में एक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी बनाया जाएगा। ये तीनों  किसी भी अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजन की मेजबानी करने के लिए तैयार रहेंगे

राष्ट्रपति कोविंद गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर हैं उन्होंने बीती शाम गांधीनगर में केंद्रीय विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शिरकत की, आज बुधवार को मोटेरा स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे। गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल समारोह में उपस्थित होंगे। दोपहर 2:30 बजे इसी मैदान पर इंडिया वर्सेस इंग्लैंड का पांच दिवसीय टेस्ट मैच शुरू होगा।

जानें मोटेरा स्‍टेडियम की खासियत

अहमदाबाद के मोटेरा इलाके में स्थित सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट ग्राउंड है।  इसकी बैठक क्षमता ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट स्टेडियम से भी अधिक है,  इसमें एक लाख 10 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था है। क्रिकेट मैदान के साथ यहां पर 236 एकड़ में फेल इस मोटेरा स्टेडियम में एथलेटिक्स ट्रैक एंड फील्ड, फुटबॉल स्टेडियम, हॉकी तथा टेनिस का मैदान, इनडोर स्पोर्ट्स हाल, आउटडोर फील्ड्स, वेलड्रम, स्केटिंग, एरिया बीच वॉलीबॉल, बोटिंग  सेंटर आदि भी बनाए गए हैं। बता दें कि इसी ग्राउंड पर गत साल 24 फरवरी को नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का स्वागत किया था।

गुजरात दौरे के पहले दिन दीक्षांत समारोह में की शिरकत

 अपने दो दिवसीय दौरे पर गुजरात पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दौरे के पहले दिन मंगलवार को गांधीनगर स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय के तृतीय दीक्षांत समारोह में कहा कि भारत को दुनिया में श्रेष्ठ बनाने के लिए युवा संकल्प बद्ध बने। राष्ट्रपति ने केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल की ओर से बनाई गई नई शिक्षा नीति 2020 की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह युवाओं को शिखर पर ले जाएगी तथा देश की उन्नति में अहम योगदान देगी। गोविंद ने कहा कि गुजरात हड़प्पा काल की सुसंस्कृत भूमि है। वैदिक ज्ञान के प्रखर ज्ञाता स्वामी दयानंद सरस्वती गुजरात से ही थे भारत देश का एकीकरण करने वाले सरदार पटेल गुजरात से थे तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जन्म भूमि भी गुजरात है।

केंद्रीय विश्वविद्यालय से शिक्षा पाकर देश विदेश में जाने वाले गुजरात के छात्र-छात्राएं प्रदेश का नाम रोशन करेंगे। स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि उठो जागो तथा जब तक दे की प्राप्ति ना हो जाए तब तक रुको मत। उनसे प्रेरणा लेकर गुजरात का युवा आत्मनिर्भर बंद कर देश विदेश में अपना वे देश का नाम ऊंचा करेगा। विद्यालय के कुलपति रमाशंकर दूबे ने कहा कि कम समय में विश्वविद्यालय के छात्रों में 14 पेटेंट कराएं हैं इनमें से दो पेटेंट बाजार में उपलब्ध है। आत्मनिर्भर भारत, लोकल फोर लोकल के अभियान को विश्वविद्यालय के छात्र अपने कौशल से साकार करेंगे। समारोह में गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल आदि भी मौजूद थे।

मंगलवार को दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति ने बताया कि गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय के स्थायी भवन के निर्माण के लिए उन्होंने 746 करोड रुपए मंजूर कर दिये हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल इस समारोह में उपस्थित थे यहां 244 छात्रों को डिग्री प्रदान की गई। गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाले 21 विद्यार्थियों में 13 छात्राएं रही जबकि केंद्रीय विश्वविद्यालय गुजरात में शिक्षा पा रहे कुल छात्रों में 55 फ़ीसदी छात्राएं हैं।

Whats App