कोरोना के चलते चौतरफा पाबंदियां, दिल्ली में सीमित क्षमता के साथ ही चलेगी मेट्रो-बसें, महाराष्‍ट्र कर्नाटक तमिलनाडु ने भी उठाए कड़े कदम

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की आशंका और केरल में बढ़ते मामलों से देश में महामारी की स्थिति गंभीर होती जा रही है। लगातार दूसरे दिन सोमवार को 14 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए और सक्रिय मामलों की संख्या भी बढ़कर डेढ़ लाख के पार चली गई। हालांकि, इस दौरान महामारी की वजह से मौत का दैनिक आंकड़ा 100 से नीचे बना हुआ है। दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर बाहर से आने वालों की जांच तेज कर दी गई है। महाराष्ट्र के अमरावती में सोमवार से हफ्ते भर के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया गया।

नागपुर, पुणे, नासिक समेत महाराष्ट्र के कुछ जिलों में स्थिति विस्फोटक

महाराष्ट्र में अमरावती के साथ ही नागपुर, पुणे, नासिक समेत महाराष्ट्र के कुछ जिलों में स्थिति विस्फोटक होने के कगार पर पहुंच गई है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्‍ट्र के अमरावती जिले में एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है। पुणे और नासिक में नाइट कर्फ्यू लगाना पड़ा है। पुणे में पिछले चौबीस घंटों के दौरान रिकॉर्ड 1,176 नए मामले मिले हैं और छह लोगों की मौत हुई है। इन जिलों में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थानों को पहले ही बंद करने का आदेश दिया जा चुका है।

जांच तेज करने के निर्देश 

पुणे में स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान को बंद करने के आदेश दिए गए हैं। रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को छोड़कर बाकी लोगों के घर से निकलने पर रोक है। केंद्र सरकार ने प्रभावित राज्यों को आरटी-पीसीआर जांच में तेजी लाने को कहा है। केंद्र सरकार ने प्रभावित राज्यों को आरटी-पीसीआर जांच में तेजी लाने को कहा है।

अकोला, वाशिम, बुलढाणा और यवतमाल में भी पाबंदियां

महाराष्‍ट्र के चार अन्य जिलों अकोला, वाशिम, बुलढाणा और यवतमाल में भी पाबंदियां लगाई गई हैं। राज्‍य सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि जरूरी सामान की दुकानों को छोड़कर लॉकडाउन में सभी दुकानें, सरकारी और निजी शैक्षणिक संस्थान, कोचिंग सेंटर, ट्रेनिंग स्कूल बंद रहेंगे। लोगों को सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक ही सामान खरीदने की छूट होगी।

पालघर में मास्क नहीं पहनने वालों पर जुर्माना 

पालघर जिले में बीते दो दिनों में मास्क नहीं पहनने वाले 189 लोगों से 36 हजार रुपए से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्य में सोमवार से सभी राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक जमावड़ों पर रोक लगा दी है।

स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने का फैसला 

नागपुर में भी अगले सात मार्च तक सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने का फैसला किया गया है। इस दौरान मुख्य बाजारों को शनिवार रविवार बंद रखा जाएगा। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए बाकी दिनों में मुख्‍य बाजारों को 50 फीसद की क्षमता के साथ चलाया जाएगा। बाजारों को सात मार्च तक वीकेंड पर बंद रखने का आदेश है।

पवार ने रद किए सार्वजनिक कार्यक्रम

वहीं राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए अपने सभी सार्वजनिक कार्यक्रमों रद कर दिए हैं। महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना के 6,971 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 21,00,884 हो गया है। राज्‍य में संक्रमण से 35 लोगों की मौत के साथ मृतकों की संख्‍या बढ़कर 51,788 हो गई है।

भुजबल भी संक्रमित

महाराष्ट्र के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल भी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं। इस महीने कोरोना की चपेट में आने वाले भुजबल सातवें मंत्री हैं। बता दें कि इस महीने महाराष्ट्र के मंत्री अनिल देशमुख, राजेंद्र शिंगणे, जयंत पाटिल, राजेश टोपे, सतेज पाटिल और बच्चू कडू कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। पिछले साल उप मुख्यमंत्री अजित पवार समेत राज्य के 12 से ज्यादा मंत्री कोरोना की चपेट में आए थे।

तीन दिनों के बाद महाराष्ट्र में छह हजार से नीचे आए नए मामले

महाराष्ट्र में तीन दिनों के बाद सोमवार को छह हजार से कम (5,210) नए मामले सामने आए। मुंबई महानगर क्षेत्र में इस दौरान महामारी से किसी की मौत भी नहीं हुई है। राज्य में 19 फरवरी को 6,112, 20 फरवरी को 6,281 और 21 फरवरी को 6,971 नए मामले मिले थे। राज्य में संक्रमण के बढ़ने से राकांपा प्रमुख शरद पवार ने अपने सभी कार्यक्रम रद कर दिए हैं। केरल में संक्रमण के बढ़ने के बाद तमिलनाडु ने राज्य से लगने वाले सीमावर्ती क्षेत्रों में निगरानी बढ़ा दी है।

मध्‍य प्रदेश सरकार ने लिया यह फैसला 

कोरोना संक्रमण के फिर से बढ़ने से मध्‍य प्रदेश सरकार ने भी सख्‍त उपायों को लागू करने का फैसला किया है। राज्‍य सरकार ने भोपाल और इंदौर में मास्क नहीं पहनने वालों पर सख्ती करने का फैसला किया है। यही नहीं मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाराष्ट्र से लगे सभी जिलों में आने वाले व्यक्तियों का परीक्षण करने के निर्देश दिए हैं।

कर्नाटक में मैरिज हॉल में मार्शलों की तैनाती

कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए जारी दिशानिर्देशों का पालन कराने के लिए मैरिज हॉल में मार्शलों की तैनाती की जाएगी। एक सभा में 500 से ज्‍यादा लोगों को जाने की अनुमति नहीं है। सभी के लिए फेस मास्क अनिवार्य किया गया है। केरल के अलप्पुझा जिले में साप्ताहिक संक्रमण की दर बढ़कर 10.7 फीसद हो गई है। पंजाब, जम्मू-कश्मीर, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में भी संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं।

दिल्ली में सीमित क्षमता के साथ ही चलेंगी मेट्रो और बसें  

राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना पाबंदियों का असर दिखाई दे रहा है। समाचार एजेंसी पीटीआइ ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि दिल्‍ली में सार्वजनिक बसें और मेट्रो ट्रेनें कम से कम दो और हफ्तों तक सीमित क्षमता के साथ ही चलेंगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Delhi Disaster Management Authority, DDMA) ने महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए यात्रियों की संख्या यथावत बनाए रखने का फैसला किया है।

तमिलनाडु सीमावर्ती जिलों में निगरानी बढाई 

वहीं तमिलनाडु सरकार ने केरल से लगे सीमावर्ती जिलों में निगरानी बढ़ा दी है। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक उड़ानों से आने वाले सभी लोगों के लिए आरटी-पीसीआर जांच को जरूरी बना दिया गया है। राज्‍य में निगरानी कैंप के अलावा सीमावर्ती जिलों में थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। यही नहीं चेन्नई, कोयंबटूर और चेंगलपट्टू जिलों में समूह आधार पर जांच की जाएगी।

हवाईअड्डों पर बढ़ाई गई जांच 

दूसरे देशों से कोरोना के नए स्वरूप के आने की आशंका को देखते हुए इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर जांच बढ़ा दी गई है। अभी तक प्रतिदिन पांच से सात सौ लोगों की जांच होती थी, जिसमें अब लगभग 10 गुना वृद्धि हुई है और रोजाना सात हजार यात्रियों की जांच की जा रही है। ब्रिटेन, पश्चिम एशिया और यूरोप के देशों से आने वाले यात्रियों की जांच को अनिवार्य बना दिया गया है।

दूसरे देशों से आने वालों के लिए पोर्टल जारी 

वहीं, भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण और जीएमआर के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम के संयुक्त उपक्रम दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) ने दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों के लिए नए पोर्टल जारी किया है। ‘एयर सुविधा’ नामक इस पोर्टल पर यात्रियों को यात्रा से पहले स्वघोषित फार्म और 72 घंटे के भीतर की कोरोना निगेटिव जांच रिपोर्ट अपलोड करनी होगी।

लगातार दूसरे दिन 14 हजार से ज्यादा नए मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से सोमवार सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान देश में 14,199 नए मामले मिले हैं और 83 लोगों की मौत हुई है। 86.3 फीसद नए मामले पांच राज्यों में ही पाए गए हैं, इनमें महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ शामिल हैं। जम्मू-कश्मीर में भी नए मामलों में वृद्धि हुई है। कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक करोड़ 10 लाख पांच हजार से ज्यादा हो गई है।

अब तक 21,15,51,746 नमूनों की जांच

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद यानी आईसीएमआर की ओर से साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक 21 फरवरी तक देशभर में कुल 21,15,51,746 नमूनों की जांच हुई है। इनमें से 6,20,216 नमूनों की जांच अकेले रविवार को हुई। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के मुताबिक मौजूदा वक्‍त में देश में संक्रमितों की संख्या 1,10,05,850 जबकि मृतकों की संख्या 1,56,385 है।

रिकवरी की दर 97.22 फीसद

हालांकि कोरोना को मात देने वालों में अब तक 1,06,99,410 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। देश में रिकवरी की दर 97.22 फीसद जबकि मृत्यु दर 1.42 फीसद है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की मानें तो कोविड-19 का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या बढ़कर 1,50,055 है जो कुल मामलों का 1.36 फीसद है।

कैसे बढ़ता गया कोरोना

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते ग्राफ को देखे तो पाते हैं कि पिछले साल कोरोना संक्रमण ने सात अगस्त को 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख का आंकड़ा पार कर लिया था। बाद में 28 सितंबर को यह 60 लाख के पार चला गया था। पिछले ही साल 11 अक्टूबर को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 70 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था।

24 घंटे में सबसे ज्‍यादा मौतें महाराष्‍ट्र में

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से साझा की गई जानकारी के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना से जान गंवाने वाले मरीजों में 83 में से महाराष्‍ट्र में 35, केरल में 15, पंजाब में छह, छत्तीसगढ़ में पांच और मध्य प्रदेश में चार हैं। महाराष्‍ट्र में अब तक 51,788, तमिलनाडु में 12,460, कर्नाटक में 12,294, दिल्ली में 10,900, पश्चिम बंगाल में 10,249, उत्तर प्रदेश में 8,715 और आंध्र प्रदेश में 7,167 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के चलते हुई है।

Whats App