Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

हवा से हवा में मार करने वाली अत्याधुनिक मिसाइल ‘अस्त्र’ का आज होगा परीक्षण

ओडिशा। भारत अपनी जल, थल और वायु सेना को मजबूत करने की दिशा में आए दिन कोई न कोई कदम उठाता रहा है। इस कड़ी में वह ओडिशा के बालेश्वर जिले में स्थित चांदीपुर क्षेत्र से आए दिन मिसाइलों का परीक्षण करता रहा है। सोमवार को यहां से एक और अत्याधुनिक मिसाइल का परीक्षण होना तय है।

अस्थाई शिविर में शिफ्ट किए जाएंगे तीन किमी के दायरे में रह रहे 10 हजार लोग

इसके मद्देनजर तीन किलोमीटर के दायरे में स्थित गांवों के करीब 787 परिवारों के दस हजार सदस्यों को सोमवार की सुबह पांच बजे से ही अस्थाई शिविरों में शिफ्ट किए जाने की सूचना है। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से विधिवत प्रचार-प्रसार कराया गया है।

हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल ‘अस्त्र’ का परीक्षण 

जानकारी के अनुसार, सोमवार को जिस मिसाइल का परीक्षण होने वाला है, उसकी क्षमता हवा से हवा में मार करने की है। इसे ‘अस्त्र’ नाम दिया गया है।

अस्थाई शिविरों में रहने वाले प्रत्येक व्यस्क को तीन सौ रुपये और बच्चों को 150 रुपये मुआवजा मिलेगा

अस्थाई शिविरों में रहने वाले प्रत्येक व्यस्क को तीन सौ रुपये और बच्चों को 150 रुपये मुआवजा दिया जाएगा। पशुओं के भोजन के लिए 100 रुपये, घरों में ताला लगाने के लिए 40 रुपये, आमोद-प्रमोद के लिए व्यस्कों को 15 और बच्चों को 10 रुपये और प्रति व्यक्ति भोजन के लिए 75 रुपये प्रदान किए जाएंगे। परीक्षण के दौरान किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न हो, इस वजह से प्रशासन ने यह कदम उठाया है।