Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

तमिलनाडु में गरजे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह- जब तक शरीर में खून है, कोई भारत की एक इंच जमीन नहीं ले सकता

तमिलनाडु। चीन के मुद्दे पर कांग्रेस राजनीति तो गर्म कर रही है, लेकिन जमीन पर जनता सरकार के इस दावे के साथ खड़ी है कि भारत ने एक-एक इंच जमीन का सम्मान बचाया। दिल्ली से दूर तमिलनाडु के सेलम में चुनावी बिगुल फूंकने पहुचे केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के भाषण के बीच तब सबसे तेज ताली बाजी, जब उन्होंने हुंकार भरते हुए कहा कि हम सभी पड़ोसियों से अच्छे संबंध रखना चाहते हैं। लेकिन जब तक शरीर में प्राण है और एक बूंद भी खून है, मैं आश्वस्त करता हूं कि कोई मां का लाल एक इंच जमीन पर कब्जा नहीं कर सकता है।

कांग्रेस कर रही सैनिकों का अपमान

रक्षा मंत्री ने कांग्रेस पर भी करारा हमला बोला। कांग्रेस और द्रमुक गठबंधन पर तंज करते हुए राजनाथ ने कहा कि चीन के साथ सैनिकों की वापसी पूरी हो चुकी है। लेकिन कांग्रेस उस पर सवाल उठाकर सैनिकों का अपमान कर रही है और द्रमुक उसके साथ हाथ मिलाए हुए है। दरअसल दोनों दलों के बीच एक समानता यह है कि दोनों तुष्टीकरण और भ्रष्टाचार में विश्वास करती है, जबकि भाजपा तुष्टीकरण के बिना सबके सशक्तीकरण के लिए काम करती है।

कांग्रेस से सवाल 

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत की एकता, अखंडता और संप्रभुता के साथ हमने न कभी समझौता किया था, न किया है, न कभी करेंगे। हम भारत और भारतवासियों का मस्तक कभी नहीं कभी नहीं झुकने देंगे। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने विपक्षी पार्टी से पूछा कि क्या कांग्रेस को भारतीय सेना की बहादुरी और साहस पर संदेह है? क्‍या कांग्रेस सेना पर सवाल उठाकर गलवन में अपना सर्वोच्‍च बलिदान देने वाले देश के वीर सपूतों का अपमान नहीं कर रही है..?

तमिल शब्दों पर खूब आजमाया हाथ

बंगाल समेत तमिलनाडु और अन्य राज्यों में चुनाव की घोषणा कभी भी हो सकती है। ऐसे में सेलम के एक कार्यक्रम में जमा लगभग 30-35 हजार लोगों की भीड़ को संबोधित करते हुए राजनाथ ने क्षेत्रीय भावनाओं और संवेदनाओं को भी सहलाया और राष्ट्रीय हितों को साधने में मोदी सरकार की भूमिका का भी उल्लेख किया। ठेठ हिंदी बेल्ट से आने वाले राजनाथ ने तमिल शब्दों पर खूब हाथ आजमाया। यहां तक कि उन्होंने तमिल को सभी भाषाओं की अम्मा बताया।

भाजपा एमजीआर के विचारों पर बढ़ेगी आगे

रक्षा मंत्री के रूप में उन्होंने राजराजा राजेंद्र चोल की भूमि को सलाम कर लोगों की ताली बटोरी तो वर्तमान राजनीति को देखते हुए यह भी स्पष्ट कर दिया कि प्रदेश में भाजपा एमजीआर और अम्मा के विचारों पर आगे बढ़ेगी। मंच के बैकग्राउंड में बने तमिलनाडु विधानसभा को दिखाते हुए उन्होंने वादा लिया कि जनता भाजपा-अन्नाद्रमुक गठबंधन को दो तिहाई बहुमत देकर भेजेगी। उत्साहित भीड़ से उन्होंने कमल और दो पत्तों वाली सरकार का नारा भी लगवाया।

अन्नाद्रमुक और भाजपा का रिश्ता बहुत पुराना

राजनाथ ने याद दिलाया कि अन्नाद्रमुक और भाजपा का रिश्ता बहुत पुराना है। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार को सहयोग देने के लिए सबसे पहले अम्मा आगे आई थीं। वहीं मोदी सरकार तमिलनाडु के विकास के लिए संकल्पित है। यह जोड़ी ही प्रदेश को आगे लेकर लाएगी।

गिनाई मोदी सरकार की उपलब्धियां

राजनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी श्रीलंका में जाफना जाने वाले पहले प्रधानमंत्री थे। उसके बाद वहां 17 हजार तमिलों को घर मिला था। दो डिफेंस कॉरिडोर बनाना तय हुआ तो उनमें से एक तमिलनाडु को मिला। उन्होंने याद दिलाया कि मोदी सरकार में राज्यों को 32 फीसद से बढ़ाकर 42 फीसद वित्तीय मदद दी गई। वहीं केंद्रीय बजट के कारण बाजार में आए उत्साह की बात की। उन्होंने स्थानीय पुट देते हुए कहा कि बाजार जल्लीकट्टू कर रहा है।

संकट में होती है असल परीक्षा 

रक्षा मंत्री ने कहा कि विकास का कोई भी मॉडल कितना मजबूत है उसका असली परीक्षण तो तब होता है जब देश किसी संकट का सामना करता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने जिस कौशल से देश को इस चुनौती का सामना करने के लिए तैयार किया वह बहुत ही अविश्वसनीय और प्रेरणादायक कहानी है। इसी कौशल की बदौलत हमने केवल कोरोना पर ही काबू पाने में सफलता नहीं पाई है वरन महामारी की रोकथाम के लिए ‘मेक इन इंडिया’ वैक्सीन बनाने में भी सफलता पाई है।

वैक्सीन देकर दुनिया की कर रहे मदद 

रक्षा मंत्री (Defence Minister Rajnath Singh) ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण भारत की अर्थव्यवस्था पर भी बुरा असर पड़ा था लेकिन हमारी सरकार ने ऐसा काम किया है कि अब IMF ने भी कहा है कि 2021-22 में भारत की GDP 11 फीसद से भी ज्यादा होगी। आज हम कोविड टीकों का इस्तेमाल हम केवल देश में ही नहीं कर रहे हैं बल्कि दूसरे देशों को अपनी वैक्सीन देकर उनकी मदद भी कर रहे हैं।