Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

हिमालय पर सक्रिय हो रहा नया पश्चिमी विक्षोभ, जानें किन इलाकों में होगी बारिश और कहां पड़ेंगे ओले

नई दिल्‍ली। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ ने जम्‍मू-कश्‍मीर और आस-पास के पहाड़ी इलाकों में दस्‍तक दे दी है। इस पश्चिमी विक्षोभ के चलते जम्‍मू-कश्‍मीर के पहाड़ी इलाकों में सोमवार से बारिश और हिमपात की आशंका है। जम्मू-कश्मीर के साथ ही लद्दाख में भी कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात की आशंका है। यही नहीं हिमाचल प्रदेश में भी एक-दो स्‍थानों पर बारिश या बर्फबारी देखने का मिल सकती है। समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक हिमालय पर एक और पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने वाला है…

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बारिश या हिमपात

समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में आंशिक बादल छाए हैं जिससे न्यूनतम तापमान प्रभावित हुआ है। पश्चिमी विक्षोभ की वजह से 22 फरवरी से मौसम में नमी रहने की संभावना है। इसके प्रभाव से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में हल्की से मध्यम बारिश या हिमपात की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक 21 और 22 फरवरी को जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में जबकि 22, 23 और 26 फरवरी को उत्‍तराखंड के कुछ इलाकों में बारिश या बर्फबारी देखने को मिल सकती है।

सोमवार से सक्रिय हो रहा पश्चिमी विक्षोभ

समाचार एजेंसी आइएएनएस ने मौसम विभाग के हवाले से बताया है कि सोमवार से एक और पश्चिमी विक्षोभ हिमालयी क्षेत्र (Western Himalayan Regions) में सक्रिय हो रहा है जिससे इस रिजन में मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। इस पश्चिमी विक्षोभ के चलते गरज चमक और तेज हवा के साथ विभिन्‍न इलाकों में ओलावृष्टि होने की आशंका है। वहीं मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली निजी एजेंसी स्‍काइमेट वेदर की मानें तो उत्तर प्रदेश के पूर्वी भागों पर भी हवाओं में एक चक्रवाती सिस्टम भी बना हुआ है। साथ ही केरल के तटीय भागों से लेकर गुजरात तक अरब सागर में एक ट्रफ सक्रिय है।

चमोली जिले में बारिश-बर्फबारी का अलर्ट

समाचार एजेंसी आइएएनएस ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि इसके चलते कर्नाटक, तमिलनाडु, पुड्डूचेरी, आंध्र प्रदेश और केरल में बारिश की गतिविधियां देखी जा सकती हैं। मौसम में यह बदलाव अगले तीन दिनों में देखा जा सकता है। वहीं मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि उत्‍तराखंड के चमोली जिले में 22 फरवरी से मौसम में बदलाव नजर आ सकता है। 22, 23 और 24 फरवरी को आसमान में बादल छाए रहेंगे और हल्‍की बारिश या बर्फबारी की गतिविधियां नजर आ सकती हैं। मौसम विभाग ने गरज चमक के साथ ओले पड़ने की भी चेतावनी दी है।

इन इलाकों में नजर आएगा घना कुहरा

समाचार एजेंसी आइएएनएस ने मौसम विभाग (India Meteorological Department, IMD) के हवाले से बताया है कि 21 फरवरी को दिल्‍ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्‍तर प्रदेश और राजस्‍थान के कुछ इलाकों में घना कुहरा देखा जा सकता है। शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी घने कोहरे की चादर में लिपटी नजर आई। पालम में दृश्यता शून्य मीटर थी और सफदरजंग में यह 100 मीटर थी। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में शनिवार को गाजियाबाद सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर रहा जहां एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स 334 दर्ज किया गया। इसके बाद ग्रेटर नोएडा तथा तीसरे नंबर पर दिल्ली रहा।