Logo
ब्रेकिंग
रांची रामगढ़ फोरलेन पर चेटर में सड़क दुर्घटना, दो घायल रामगढ़ के दो घरों में डकैती, परिवार को बंधक बनाकर लाखो की लूटपाट, CCTV में अपराधी हुए कैद । रजरप्पा मंदिर के पुजारी रंजीत पंडा का हृदय गति रुकने से नि-धन, शोक की लहर हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण

तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ खुल कर आए अरविंद केजरीवाल, रविवार को किसान नेताओं को देंगे लंच

नई दिल्ली। तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर लेकर पंजाब और हरियाणा के किसानों का सिंघु बॉर्डर पर चल रहा धरना-प्रदर्शन शनिवार को 87वें दिन में प्रवेश कर गया। इसी के साथ गाजीपुर, शाहजहांपुर और सिंघु बॉर्डर पर भी किसान लगातार धरना प्रदर्शन कर केंद्र सरकार पर तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने किए दबाव बना रहे हैं।

इस बीच दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने बड़ा एलान किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रविवार किसान नेताओं से लंच पर करेंगे चर्चा। यह चर्चा तीनों कृषि बिलों से संबंधित खामियों पर होगी होगा। जानकारी सामने आ रही है कि किसान संगठनों के बड़े नेताओं को दिल्ली विधानसभा में लंच देंगे। इसमें सभी बड़े किसान नेता और आम आदमी पार्टी के नेता भी शिरकत करेंगे। यहां पर बता दें कि किसान आंदोलन का अरविंद केजरीवाल भी समर्थन कर रहे हैं।

यहां पर बता दें कि पंजाब निकाय चुनाव के परिणामों पर तीनों कृषि बिलों के खिलाफ पिछले 2 महीने से भी अधिक समय से चल रहे किसान आंदोलन का पूरा प्रभाव देखने को मिला है। पंजाब के किसानों के समर्थन में रही कांग्रेस को निकाय चुनाव में जबरदस्त कामयाबी मिली है। वहीं, कुछ हद तक आम आदमी पार्टी को भी किसानों का समर्थन करने का लाभ मिला है। बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ आम आदमी पार्टी लगातार मुखर रही। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आंदोलन कर रहे किसानों को कई तरह की मदद भी मुहैया करवाई। किसानों को वाईफाई की सुविधा तक दी है। इसके बावजूद पंजाब की जनता ने आम आदमी पार्टी को आशातीत कामयाबी नहीं दी है। वहीं, कई स्थानों पर AAP तीसरे स्थान पर रही।

बताया जा रहा है कि पंजाब में किसान मतदाता आगामी विधानसभा चुनाव में निर्णायक भूमिका में होंगे, इसलिए आम आदमी पार्टी अभी से उन्हें लुभाने में जुट गई है।