नीति आयोग की बैठक LIVE, पीएम मोदी बोले- देश तेजी से आगे बढ़ना चाहता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज होने वाली नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक की अध्यक्षता कर रहे हैं। बैठक में कृषि, बुनियादी ढांचा, विनिर्माण और मानव संसाधन विकास से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। नीति आयोग का शीर्ष निकाय परिषद में सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री, उप-राज्यपाल, कई केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ सरकारी अधिकारी शामिल हैं।

नीति आयोग की बैठक में पीएम मोदी के संबाेधन की बातें :-

  • हमने कोरोना कालखंड में देखा है कि कैसे जब राज्य और केंद्र सरकार ने मिलकर काम किया, देश सफल हुआ। दुनिया में भी भारत की एक अच्छी छवि का निर्माण हुआ।
  • इस वर्ष के बजट पर जिस तरह का positive response आया है, उसने जता दिया है कि mood of the nation क्या है।
  • देश मन बना चुका है। देश तेजी से आगे बढ़ना चाहता है, देश अब समय नहीं गंवाना चाहता है।
  • हम ये भी देख रहे हैं कि कैसे देश का प्राइवेट सेक्टर, देश की इस विकास यात्रा में और ज्यादा उत्साह से आगे आ रहा है।
  • सरकार के नाते हमें इस उत्साह का, प्राइवेट सेक्टर की ऊर्जा का सम्मान भी करना है और उसे आत्मनिर्भर भारत अभियान में उतना ही अवसर भी देना है।

विश्व के लिए भी उत्पादन करें: पीएम मोदी

  • आत्मनिर्भर भारत अभियान, एक ऐसे भारत का निर्माण का मार्ग है जो न केवल अपनी आवश्यकताओं के लिए बल्कि विश्व के लिए भी उत्पादन करे और ये उत्पादन विश्व श्रेष्ठता की कसौटी पर भी खरा उतरे।
  • आज जब देश अपनी आज़ादी के 75 वर्ष पूरे करने जा रहा है तब गवर्निंग काउंसिल की बैठक और महत्वपूर्ण हो गई है।
  • मैं राज्यों से आग्रह करूंगा कि आज़ादी के 75 वर्ष के लिए अपने-अपने राज्यों में समाज के सभी लोगों को जोड़कर समितियों का निर्माण हो।

बैठक में पहली बार लद्दाख को प्रवेश
संचालन परिषद की छठी बैठक में पहली बार लद्दाख को प्रवेश मिलेगा। इसके अलावा जम्मू कश्मीर की भी केंद्र शासित प्रदेश के रूप में भागीदारी होगी। इस बार, प्रशासकों की अध्यक्षता वाले अन्य केंद्रशासित प्रदेशों को भी शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है। प्रधानमंत्री नीति आयोग के चेयरमैन हैं। परषिद की बैठक के एजेंडे में कृषि, बुनियादी ढांचा, विनिर्माण, मानव संसाधन विकास, जमीनी स्तर पर सेवाओं की आपूर्ति और स्वास्थ्य व पोषण पर विचार विमर्श शामिल हैं।

2015 में हुई थी पहली बैठक
बैठक में संचालन परिषद के पदेन सदस्य, केन्द्रीय मंत्री, उपाध्यक्ष, सदस्य और नीति आयोग के सीईओ व भारत सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल होंगे। संचालन परिषद की बैठक नियमित तौर पर होती है और इसकी पहली बैठक आठ फरवरी, 2015 को हुई थी। हालांकि कोविड-19 महामारी के कारण परिषद की पिछले साल बैठक नहीं हुई थी।

 बैठक में ममता बनर्जी नहीं होंगी शामिल 
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक में संभवत: शामिल नहीं होंगी। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि ममता बनर्जी  बैठक में संभवत: शामिल नहीं होंगी। इससे पहले भी बनर्जी नीति आयोग की बैठकों को ‘निरर्थक’ बताते हुए उनमें शामिल नहीं हुई हैं। बनर्जी का कहना है कि इस संस्था के पास कोई ‘वित्तीय शक्तियां’ नहीं हैं और यह राज्य की योजनाओं में कोई मदद नहीं दे सकती है।

अमरिंदर सिंह भी नहीं होंगे शामिल 
वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह अस्वस्थ हैं और उनके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक में शामिल नहीं होने की संभावना है। उनकी जगह इस बैठक में राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल हिस्सा ले सकते हैं।  सिंह के करीबी सूत्रों ने बताया कि पंजाब के मुख्यमंत्री अस्वस्थ हैं और उनके नीति आयोग की बैठक में नहीं आने की संभावना है।

Whats App