Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

चांदनी चौक में रातोंरात बना हनुमान मंदिर, पूजा करने पहुंचे श्रद्धालु, दिल्ली HC के आदेश पर गिराया था

पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक इलाके में प्रशासन द्वारा एक मंदिर गिराए जाने की घटना के करीब डेढ़ महीने बाद उसी स्थान पर एक ‘‘अस्थायी ढांचा” खड़ा किया गया है। उत्तर दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के महापौर ने शुक्रवार को दावा किया कि ढांचा ‘‘हनुमान भक्तों” ने तैयार किया है। चांदनी चौक के सौंदर्यीकरण की योजना के तहत यहां के पुराने हनुमान मंदिर को गिराने को लेकर भाजपा और AAP की दिल्ली इकाईयों के बीच जनवरी की शुरुआत में विवाद हो गया था। उत्तर दिल्ली नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने तब कहा था कि अतिक्रमण हटाने के दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर मंदिर गिराया गया।

PunjabKesari

इस बीच, शुक्रवार को सोशल मीडिया पर आई कुछ तस्वीरों में पता चला कि जिस स्थान पर मंदिर गिराया गया वहां पर स्टील का अस्थायी ढांचा खड़ा है जिसके भीतर हनुमान की मूर्ति है जिसकी पूजा की जा रही है। एनडीएमसी के महापौर जय प्रकाश ने शुक्रवार को कहा कि अस्थायी ढांचा राम जी और हनुमान जी के भक्तों ने खड़ा किया है। भले ही तय प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया लेकिन हमें उनकी आस्था का भी सम्मान करना होगा। शुक्रवार को ट्वीट कर उन्होंने उस ढांचे की दो तस्वीरें साझा कीं और कहा कि वह दिन में उस स्थल पर जाकर ‘भगवान हनुमान का आर्शीवाद’ लेंगे। इसमें उन्होंने लिखा, ‘‘चांदनी चौक में विराजे पवनसुत हनुमान जयश्रीराम।” उन्होंने लिखा, ‘‘उस स्थल पर जाने के बाद मैं अगले कदम के बारे में निर्णय लूंगा।”