Logo
ब्रेकिंग
रांची रामगढ़ फोरलेन पर चेटर में सड़क दुर्घटना, दो घायल रामगढ़ के दो घरों में डकैती, परिवार को बंधक बनाकर लाखो की लूटपाट, CCTV में अपराधी हुए कैद । रजरप्पा मंदिर के पुजारी रंजीत पंडा का हृदय गति रुकने से नि-धन, शोक की लहर हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण

Train Accident : हरियाणा के नारनौल में हुआ ट्रेन हादसा, पटरी टूटने से 39 डिब्बे क्षतिग्रस्त, राहत बचाव काम जारी

नारनौल (अटेली)हरियाणा के नारनौल में एक बड़ा ट्रेन हादसा हो गया है। शुक्रवार की दोपहर हुए इस ट्रेन हादसे में एक मालगाड़ी भीलवाड़ा के पास पलट गई है। इस हादसे में करीब 39 डिब्बे क्षतिग्रस्त हुए हैं। शुरुआती मिल रही जानकारी के अनुसार पटरी भी  टूटी हुई है लेकिन हादसा किस कारण हुआ है यह पता नहीं चल पाया है। यह मालगाड़ी रेवाड़ी से फुलेरा जा रही थी कि भीलवाड़ा के पास ट्रैक से उतर कर पलट गई है

बता दें कि ट्रेन हादसा होने पर फिलहाल इस रूट पर गाड़ियों का परिचालन रोक दिया गया है। राहत बचाव का काम शुरू कर दिया है। रेलवे ट्रैफिक टीम व अन्य टीम मौके पर पहुंच चुकी है।

मालगाड़ी में थे कुल 90 कंटेनर 

मिली जानकारी के अनुसार मालगाड़ी में कुल 90 कंटेनर थे। हादसे के बाद ये डब्बे करीब 50 मीटर नीचे गिर गए। वहीं रेल की पटरी भी उखड़ गई। सूचना मिलते ही रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच में जुट गए हैं। राहत बचाव का काम तेजी से किया जा रहा है। फिलहाल किसी जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं मिली है। मालगाड़ी पुराने रेलवे ट्रैक से आ रही थी। इस ट्रैक पर यात्री ट्रेनों का भी आवागमन होता है। ऐसे में रेल प्रशासन रेल लाइन को दुरुस्त कर सेवा को फिर से बहाल करने में जुट गया है।

शुरुआती जांच में यह भी बात सामने आ रही थी कि यह हादसा एक साजिश है। हालांकि दिन ढलने के दौरान यह  भी पता चला कि भीलवाड़ा के पास हुए मालगाड़ी हादसे में ना तो किसान आंदोलन ना ही किसी आतंकी संगठन की साजिश थी।