Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

बिहार और झारखंड के पूर्व राज्यपाल एम राम जोइस का लंबी बीमारी के चलते निधन

बेंगलुरु। बिहार और झारखंड के पूर्व राज्यपाल एमराम जोइस का लंबी बीमारी के बाद मंगलवार को निधन हो गया। पारिवारिक सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। 88 वर्ष के पूर्व राज्यसभा सांसद और न्यायविद जोइस का निधन आयु संबंधी बीमारियों से हुआ। उन्होंने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में भी काम किया था। 27 जुलाई 1932 को शिवमोग्गा में जन्मे, मंदागद्दे राम जोइस ने बीए और लॉ की डिग्री हासिल की। उन्होंने शिवमोग्गा और बेंगलुरु में पढ़ाई पूरी की।

कुवेम्पु विश्वविद्यालय ने एमराम जोइस को डॉक्टर ऑफ लॉ की मानद उपाधि से सम्मानित किया। वे शुरू से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े थे। उनके दो बच्चे और तीन पोते हैं। उनके बेटे एमआर शैलेंद्र और बेटी एमआर तारा बेंगलुरु में वकील हैं। उन्होंने 1959 में एक वकील के रूप में दाखिला लिया और एस के वेंकटरांगा अयंगर के चैंबर में थे। उन्हें 1977 में कर्नाटक उहाईकोर्ट का जज नियुक्त किया गया था। उन्हें मई 1992 में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। वह अंग्रेजी और कन्नड़ दोनों भाषाओं में एक प्रतिष्ठित लेखक थे। उन्होंने कानून से जुड़ी कई किताबें लिखी थीं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने निधन पर दुख व्यक्त किया। येदियुरप्पा ने ट्वीट करके कहा, ‘सेवानिवृत्त न्यायाधीश श्री राम जोस के निधन से गहरा दुःख हुआ। उन्होंने राज्यपाल और राज्यसभा सांसद के रूप में भी काम किया था। मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि वह उनके परिवार को नुकसान सहने की शक्ति दे। भगवान उसकी आत्मा को शांति दे। ओम शांति।’

निधन पर शोक व्यक्त करते हुए, कर्नाटक के प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने एक ट्वीट में कहा, ‘न्यायमूर्ति एम राम जोइस अब नहीं रहे। उनका आज सुबह 7.30 बजे निधन हो गया। उनकी आत्मा को शांति मिले। उडुपी-चिक्कमगलुरु की सांसद शोभा करंदलाजे ने भी अपनी संवेदना व्यक्त की।