Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

सद्गुणों की कामना का पर्व वसंत: बिना राष्ट्रीय हितों को सामने रखे समाज जीवन का संगीत लोक कल्याणकारी नहीं हो सकता

नई दिल्ली। COVID-19 महामारी ने संपूर्ण मानवजाति पर हर तरह से प्रभाव डाला है। बच्चे से लेकर जवान और बुजुर्ग तक हर कोई इसकी जद में आया है। इस वायरस का असर सबसे ज्यादा उन लोगों पर पड़ा, जो पहले से ही किसी बीमारी से पीड़ित थे। सालभर से ज्यादा समय हो चुके इस महामारी ने हमें सिखा दिया कि हमारे लिए हमारा स्वास्थ्य कितना महत्वपूर्ण है। हम अपने स्वास्थ्य को लेकर शिथिल नहीं हो सकते, क्योंकि कभी भी कुछ भी हो सकता है। इसलिए अपने खाने-पीने और व्यायाम पर ध्यान देना चाहिए, साथ ही हेल्थ इंश्योरेंस भी करवाना चाहिए।

साल 2020 में हमने महामारी को फैलते हुए देखा, तो वहीं साल 2021 इसके फैलाव को रोकने वाला साल है और इसके लिए पूरी दुनिया ने अपनी कमर कस ली है। महामारी को रोकने के लिए वैक्सीन आ चुकी है और अलग-अलग देश इस पर तेजी से काम कर रहे हैं। विश्व में इजराइल ऐसा देश है, जहां टीकाकरण की दर सबसे ज्यादा है। यहां दो महीने में 75% से ज्यादा लोगों को COVID-19 का टीका दिया जा चुका है। अमरीका और बाकी विकसित देश भी इस पर तेजी से काम कर रहे हैं। भारत ने भी जनवरी महीने में टीकाकरण कार्यक्रम शुरू कर दिया है और पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया जा रहा है। विश्व में टीका लगाने की जिस तरह की रफ्तार है, उसे देखते हुए विशेषज्ञ मानते हैं कि इसे पूरा होने में कम से कम सात साल लग जाएगा। इससे देखते हुए संभव है कि आगे टीकाकरण कार्यक्रम की रफ्तार में तेजी आए।

COVID-19 महामारी के खिलाफ हो रहे टीकाकरण कार्यक्रम को देखते हुए सबसे पहला और वाजिब सवाल हमारे जेहन में आता है कि टीकाकरण के बाद क्या हमारा जीवन पहले की तरह सामान्य हो जाएगा? क्या उसके बाद भी हमें स्वच्छता के नियमों का पालन करना होगा और मास्क लगाना होगा?

सबसे पहली बात भारत में अभी उन लोगों को टीका लगाया जा रहा है, जो कोरोना की चपेट में आ सकते हैं, जैसे स्वास्थ्यकर्मी, सुरक्षाकर्मी और सफाईकर्मी। आम लोगों तक वैक्सीन पहुंचने में अभी समय लगेगा, इसलिए वह अभी भी खतरे में हैं। दूसरी बात, कोई भी वैक्सीन 100% तक वायरस को खत्म नहीं कर सकती। इसका असर हमारे शरीर पर 75% से लेकर 95% तक रहता है।

ऐसे में यह नहीं कहा जा सकता कि टीकाकरण के बाद भी खतरा टल जाएगा। इसलिए अगर आप घर में हों या ऑफिस में, बाजार में हों या सार्वजनिक परिवहन में सफर कर रहे हों, आपको एहतियात बरतने की जरूरत है। आप हाथ धोते रहिए, मास्क लगाइए और दो गज की दूरी बनाए रखिए इसके अलावा अपने पास एक हेल्थ इंश्योरेंस जरूर रखिए। क्योंकि कोरोना महामारी अचानक आई और भविष्य में कौन सी महामारी या बीमारी हमें शिकार बना ले, कुछ कह नहीं सकते। इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेकर खुद को वित्तीय रूप से सुरक्षित और सतर्क कर लेना बहुत जरूरी है।

एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी इलाज के दौरान भारी मेडिकल खर्चों को कम या नियंत्रण में रख सकती है। इससे आपकी गाढ़ी कमाई पर बोझ नहीं पड़ेगा, क्योंकि अस्पतालों में इलाज का खर्च बहुत ही ज्यादा हो सकता है। यहां आपको ध्यान देना है कि आप जिस इंश्योरेंस कंपनी से पॉलिसी ले रहे हैं, वह आपको हर तरह का कवर और लाभ दे, जैसे रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी अपने ग्राहकों को देती है। कंपनी ने पिछले कई सालों से अपने ग्राहकों के भरोसे को बरकरार रखा है। यहां आपको हर तरह की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी मिल जाएगी।

ऐसी ही एक पॉलिसी है रिलायंस हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी। इसमें आपको कई तरह के फायदे मिलते हैं, जैसे यह 30% तक की छूट के साथ आती है, इसमें Covid-19 का उपचार भी शामिल है, इस पॉलिसी के जरिए विश्व में कहीं भी इमरजेंसी हॉस्पिटलाइजेशन की सुविधा मिलती है, इसमें प्री-पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन का खर्च शामिल है और इसका क्लेम सेटलमेंट रेशियो 100% फीसदी है। इसके अलावा यह पॉलिसी अतिरिक्त कवर और अतिरिक्त समय की सुविधा भी देती है। इसका मतलब यह हुआ कि अगर आप हेल्थ इन्फिनिटी पॉलिसी में 10 लाख वाला कवर लेते हैं, तो इस कवर के साथ आपको 3 लाख का अतिरिक्त कवर मिलेगा, जिससे आपका कुल हेल्थ कवर 13 लाख का हो जाएगा। इसके साथ-साथ अगर आप 12 महीने के लिए पॉलिसी प्रीमियम को चुनते हैं, तो आपको एक महीने का अतिरिक्त फायदा मिलेगा, जिससे आपका कवर 13 महीने का हो जाएगा।

घर की आवश्यक वस्तुओं की तरह हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी भी अब हमारे जीवन में जरूरी हो चुकी है, क्योंकि बीमारी कभी भी आ सकती है। इसलिए भविष्य में अपने मेडिकल खर्चों को कवर प्रदान करने लिए एक सही इंश्योरेंस पॉलिसी लेना ही समझदारी है। सही पॉलिसी के लिए आप ऑनलाइन रिलायंस जनरल इंश्योरेंस की वेबसाइट पर जा सकते हैं। आप यहां अपनी जरूरत और सुविधा अनुसार हेल्थ इंश्योरेंस कवर ले सकते हैं।