Logo
ब्रेकिंग
Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l

असम में मोदी सरकार पर बरसे राहुल गांधी, बोले- ध्यान से सुन लो, यहां लागू नहीं होगा CAA

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज असम में विधानसभा चुनावों के लिए कैंपेन की शुरुआत की। इस दौरान उन्हाेंने भाजपा और आरएसएस पर जमकर भडास निकाली। उन्होंने मोदी सरकार पर  असम को बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए यहां CAA लागू नहीं होगा। इसके साथ ही राहुल गांधी ने कहा किहम दो, हमारे दो, असम के लिये और दो, और सबकुछ लूट लो।

कांग्रेस ने असम के लोगों को एकजुट किया: राहुल गांधी
राहुल गांधी ने शिवसागर जिले के शिवनगर बोर्डिंग फील्ड में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मैं और कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता असम समझौते के सिद्धांतों की रक्षा करेंगे, हम इससे एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने दावा किया कि असम के लोगों को एकजुट किया, इससे पहले हिंसा के चलते इस बात की कोई गारंटी नहीं हुआ करती थी कि कोई व्यक्ति जनसभा से घर वापस लौट पाएगा कि नहीं।

असम का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार: राहुल गांधी
कांग्रेस नेता ने कहा कि असम का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार है। यहां का युवा जानता है कि बीजेपी सरकार में रोजगार नहीं मिलेगा। नरेंद्र मोदी खेती को खत्म करने के लिए तीन कृषि कानून लाए हैं। हम यहां सरकार में आएंगे तो जो नफरत फैलाई जा रही है वो खत्म होगी। उन्होंने आरोप लगाया कि  हिंदुस्तान की सरकार ने तरुण गोगोई जी का और इस प्रदेश का अपमान किया है। असम की जनता में वो क्षमता है कि अवैध प्रवास के  मुद्दे को मिलकर सुलझाया जा सकता है। अगर यह प्रदेश फिर से बंट गया, जो बीजेपी और आरएसएस रोज करते हैं तो असम का नुकसान होगा