दिल्‍ली-एनसीआर समेत उत्‍तर भारत के कई राज्‍यों में भूकंप के तगड़े झटके, पहले की तीव्रता 6.2 और दूसरे की 6.1 मापी गई

नई दिल्‍ली। दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत शुक्रवार की रात एक के बाद एक दो बार भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। रात 10:31 बजे महसूस किए गए पहले भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.2 मापी गई जबकि इसके ठीक तीन मिनट बाद आए भूकंप की तीव्रता 6.1 मापी गई। जर्मन रिसर्च सेंटर फॉर जियोसाइंस (जीएफजेड) के मुताबिक रात 10 बजकर 31 मिनट और 33 सेकेंड पर पहले भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसका केंद्र ताजिकिस्तान और शिंजियांग की सीमा पर जमीन से करीब 86 किलोमीटर नीचे था।

घरों से बाहर भागे लोग 

झटके महसूस होते ही लोग घरों से बाहर भागे। अभी लोग भूकंप को लेकर असमंजस में ही थे कि एक बार फिर धरती डोल गई। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक दूसरी बार रात 10:34 बजे दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसका केंद्र पंजाब में अमृतसर के पास था।

ताजिकिस्‍तान में 6.3 मापी गई तीव्रता 

समाचार एजेंसी रॉयटर की रिपोर्ट के मुताबिक भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान-शिनजियांग सीमा क्षेत्र में था और इसकी तीव्रता रिक्‍टर स्‍केल पर 6.2 मापी गई। वहीं समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक ताजिकिस्‍तान में आए इस भूकंप की तीव्रता 6.3 मापी गई।

अमृतसर में भी भूकंप का केंद्र, 6.1 रही तीव्रता 

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (एनसीएस) ने बताया है कि पंजाब के अमृतसर में इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.1 मापी गई। समाचार एजेंसी पीटीआइ ने नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के हवाले से बताया है कि भूकंप का केंद्र अमृतसर में था। एनसीएस के मुताबिक अमृतसर में रात 10:34 बजे आए इस भूकंप का केंद्र जमीन से 10 किलोमीटर नीचे रहा…

इन राज्‍यों में हिली धरती 

समाचार चैनलों के मुताबिक भूकंप के झटके उत्‍तर प्रदेश, पंजाब, जम्‍मू-कश्‍मीर, हरियाणा, राजस्‍थान, गुजरात, समेत उत्‍तर भारत के कई इलाकों में महसूस किए गए हैं। गनीमत यह है कि अब तक जान-माल के नुकसान की कोई खबर सामने नहीं आई है।

पाकिस्‍तान में 6.4 मापी गई तीव्रता 

समाचार एजेंसी पीटीआइ ने बताया है कि पाकिस्‍तान में भी भूकंप के तगड़े झटके महसूस किए गए। पाकिस्‍तान में आए भूकंप की तीव्रता 6.4 मापी गई। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (National Seismic Monitoring Centre, NSMC) के मुताबिक ताजिकिस्‍तान में आए भूकंप का केंद्र जमीन से 80 किलोमीटर नीचे रहा। भूकंप के झटके पाकिस्‍तान में राजधानी इस्लामाबाद और खैबर-पख्तूनख्वा के प्रमुख शहरों, पंजाब प्रांत और गुलाम कश्मीर में महसूस किए गए।

पाक में कुरान पढ़ते दिखे लोग 

समाचार एजेंसी पीटीआइ ने बताया है कि पाकिस्‍तान में भूकंप के तगड़े झटकों के बाद लोग घरों से बाहर भागते दिखाई दिए। पाकिस्‍तान के न्‍यूज चैनलों ने लोगों को पवित्र कुरान की आयतें पढ़ते हुए दिखाया। पाकिस्‍तान से अभी तक किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है।

इसलिए आते हैं भूकंप 

भूगर्भ वैज्ञानिकों के मुताबिक टेक्टोनिक प्लेटों में तेज हलचल के चलते भूकंप आते हैं। इसके अलावा उल्का प्रभाव और ज्वालामुखी विस्फोट, माइन टेस्टिंग और न्यूक्लियर टेस्टिंग भी भूकंप की वजहें होती हैं।

पाकिस्‍तान में चमन फॉल्‍ट बड़ा खतरा 

भूकंप के लिहाज से पाकिस्‍तान बेहद संवेदनशील है। पाकिस्तान भूगर्भीय रूप से यूरेशियन और भारतीय टेक्टोनिक प्लेटों को ओवरलैप करता है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्‍तान में चमन फाल्ट को सबसे बड़ा खतरा माना जाता है। पाकिस्‍तान में साल 2005 में 7.6 तीव्रता के आए भूकंप में 73 हजार से ज्‍यादा लोगों की मौत हुई थी।

सुबह राजस्‍थान में आया था भूकंप 

इससे पहले आज ही राजस्‍थान में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक राजस्‍थान में आए भूकंप की तीव्रता रिक्‍टर पैमाने पर तीन 4.3 मापी गई थी। राजस्‍थान में सुबह 08:01 मिनट पर आए भूकंप का केंद्र बीकानेर के 420 किलोमीटर उत्‍तर पश्चिम में था।

Whats App