Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

Miss India Runner Up Manya Singh को कभी करना पड़ा था बर्तन धोने का काम, जानें- ऑटो रिक्शा चालक की बेटी की संघर्ष भरी कहानी

नई दिल्ली। वीएलसीसी फेमिना मिस इंडिया 2020 के विनर की घोषणा हो चुकी है। इस प्रतियोगिता में तेलंगाना की मानसा वाराणसी ने वीएलसीसी मिस इंडिया 2020 का खिताब अपने नाम किया। मानसा के अलावा फर्स्ट रनरअप रहीं उत्तर प्रदेश की मान्या सिंह और सेकेंड रनरअप रहीं मनिका शियोकांड। मान्या ने भले ही वीएलसीसी मिस इंडिया 2020 का खिताब अपने नाम न किया हो लेकिन सोशल मीडिया पर उनकी जबरदस्त चर्चा हो रही है। मान्या सिंह के सोशल मीडिया पर छाए रहने के पीछे की असल वजह उनका रियल लाइफ में स्ट्रग्ल है। मान्या ने कुछ महीने पहले सोशल मीडिया पर एक लंबे चौड़े पोस्ट के साथ ही खुद अपने संघर्ष की कहानी को शेयर किया था।

मान्या सिंह की लाइफ प्रतियोगिता में भाग लेने वाले अन्या प्रतिभागियों से काफी अलग और कठिनाईयों भरा रहा था। उनके पिता एक ऑटो रिश्का चालक हैं। वहीं उनका बचपन कई तरह की मुश्किलों में गुजरा है। मान्या ने सोशल मीडिया पोस्ट पर अपने बारे में खुलासा करते हुए लिखा था, ‘मैंने भोजन और नींद के बिना कई रातें बिताई हैं। मेरे पास कई मीलों तक चलने के लिए पैसे नहीं होते थे। मेरे खून, पसीने और आंसुओं ने मेरे सपनों को आगे बढ़ाने के लिए साहस जुटाया है। ऑटो रिक्शा चालक की बेटी होने के नाते, मुझे कभी स्कूल जाने का अवसर नहीं मिला क्योंकि मुझे अपनी बचपन में ही काम करना शुरू करना था। मेरी मां के पास मेरी परीक्षा की फीस भरने के लिए पैसे नहीं थे जिसकी वजह से उन्होंने अपने गहने तक गिरवी रख दिए थे और हमेशा पैशन को फॉलो करने के लिए कहा।मेरी मां ने मेरे लिए बहुत कुछ झेला है।’

मान्या ने अपने इस पोस्ट में आगे लिखा, ‘मैं 14 साल की उम्र घर से भाग गई थी। दिन के वक्त मैं पढ़ाई करती थी। वहीं शाम को बर्तन धोती थी और रात के वक्त कॉल सेंटर में काम करती थी। मैं मीलों तक पैदल चलकर जाती ताकि रिक्शे का किराया बचा सकूं। आज मैं वीएलसीसी फेमिना मिस इंडिया 2020 के मंच पर सिर्फ और सिर्फ अपने माता-पिता और भाई की वजह से। इन लोगों ने मुझे सिखाया कि आपको अगर खुद पर विश्वास है तो आपके सपने पूरे हो सकते हैं।’

इसी के साथ ही मान्या सिंह का एक पुराना वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें वह सड़क पर हील्स पहनकर रैंप वॉक करती नजर आ रही हैं। मान्या ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा था- कोयला कैसे डायमंड बना।