Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

उत्‍तराखंड से समन्‍वय के लिए योगी ने राणा के नेतृत्‍व में भेजा मंत्रियों का दल

लखनऊ: उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार को ग्‍लेशियर टूटने के बाद उत्‍तर प्रदेश सरकार ने राहत कार्य के लिए सक्रियता बढ़ा दी है। उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार को उत्‍तराखंड से समन्‍वय के लिए गन्‍ना विकास मंत्री सुरेश राणा के नेतृत्‍व में मंत्रियों का एक दल भेजा है।

सरकारी प्रवक्‍ता के अनुसार मंगलवार को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने उत्‍तराखंड सरकार से समन्‍वय बनाने के लिए गन्‍ना विकास व चीनी उद्योग मंत्री सुरेश राणा के नेतृत्‍व में तीन सदस्‍यीय मंत्रियों की एक समिति बनाई है जिसमें मंत्री धर्म सिंह सैनी और विजय कश्‍यप भी शामिल हैं। मंगलवार को मंत्रियों का यह दल उत्‍तराखंड के लिए रवाना हो गया। इसके अलावा उत्‍तराखंड शासन और प्रशासन से समन्‍वय के लिए अपर मुख्‍य सचिव (गृह) अवनीश अवस्‍थी के नेतृत्‍व में अधिकारियों का एक दल भी बनाया गया है।

प्रवक्‍ता के अनुसार सहायता के लिए लखनऊ में राहत आयुक्त कार्यालय में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है, जिसका नंबर 1070 है। आपदा प्रभावित उत्‍तर प्रदेश के जिलों में भी कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं, जहां प्रशासन, पुलिस और सिंचाई विभाग के कर्मचारी 24 घंटे अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मंगलवार को उत्‍तराखंड रवाना होने से पहले बातचीत में सुरेश राणा ने कहा, “मैं अपने दोनों सहयोगी मंत्रियों के साथ वहां पहुँचकर सबसे पहले उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र रावत से मुलाकात करूंगा।” राणा ने कहा, “इस त्रासदी में जो लोग लापता हो गये हैं उनकी तलाश और जो काल-कवलित हुए हैं उनकी अंत्‍येष्टि के लिए उचित समन्‍वय बनाकर कार्य किया जाएगा।” गन्‍ना मंत्री ने बताया कि हरिद्वार में सहायता केंद्र और नियंत्रण कक्ष बनाया गया है।

उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने स्‍पष्‍ट कहा है कि उत्‍तर प्रदेश सरकार उत्‍तराखंड को हर संभव सहयोग करेगी और उत्‍तर प्रदेश के जिन लोगों की इस त्रासदी में मौत हुई है, उनके परिजनों को अलग से दो-दो लाख रुपये देगी। इसके अलावा घायलों के बेहतर उपचार के लिए भी समन्‍वय बनाकर यथा संभव सहयोग किया जाएगा। राणा ने बताया कि उत्‍तर प्रदेश में गंगा और उसकी सहयोगी अलकनंदा नदी के प्रभाव वाले इलाकों में सरकार ने अधिकारियों को मुस्‍तैद कर दिया है और जल शक्ति, बाढ़ नियंत्रण तथा गृह विभाग के अधिकारी समन्‍वय स्‍थापित कर किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार हैं।

इसके पहले सोमवार को जारी बयान में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा था कि संकट की इस घड़ी में प्रदेश सरकार उत्तराखण्ड सरकार को हर संभव मदद प्रदान करेगी। इसके मद्देनजर उन्होंने उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से फोन पर बातचीत कर संकट की इस घड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया है।