Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

संसद में दिए गए बयान पर किसान नेता Rakesh Tikait ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया जवाब

नई दिल्ली। तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद कराने की मांग को लेकर दिल्ली-यूपी के गाजीपुर बॉर्डर पर पिछले 2 महीने से भी अधिक समय से बैठे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait, Bharatiya Kisan Union) ने बड़ा बयान दिया है। सोमवार को समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हमने कब कहा कि एमएसपी समाप्त हो रहा है? हमने तो यह कहा है कि एमएसपी पर एक कानून बनाया जाए। अगर ऐसा कानून बनता है तो देश के सभी किसान लाभान्वित होंगे। अभी, एमएसपी पर कोई कानून नहीं है और व्यापारियों द्वारा किसानों को लूटा जाता है।

बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत ने संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर प्रतिक्रिया दी है। संसद में पीएम मोदी ने किसानों से अपना धरना-प्रदर्शन खत्म करने की गुजारिश की है। पीएम मोदी की इस अपील पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि एमएसपी पर कानून बना दो हम केंद्र सरकार के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं।

यह कहा है पीएम मोदी ने संसद में

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में अपने संबोधन के दौरान कहा कि एमएसपी था, है और रहेगा। इतना ही नहीं उन्होंने मंडियों के भी आधुनिकीकरण की बात कही है। पीएम मोदी ने गुजारिश की है कि किसानों को अपना धरना-प्रदर्शन खत्म करना चाहिए। किसानों ने केंद्र सरकार ने बातचीत की है और आगे भी चर्चा को तैयार है। उन्होंने कहा कि किसानों का आंदोलन खत्म होना चाहिए और चर्चा जारी रहनी चाहिए।

राकेश टिकैत यह भी कहा है कि दूध के मामले में भी हमारे देश की स्थित ठीक नहीं है। आगे भी हालात यही रहे तो तुर्की जैसे हालात हो जाएंगे और दूध भी बाहर से मंगाना पड़ेगा। राकेश टिकैत ने अपने अहम बयान में कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपील करनी चाहिए कि सभी सांसद अपनी-अपनी पेंशन को छोड़ दें।