Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

अमित शाह का CM नीतीश के बहाने महाराष्‍ट्र में शिवसेना पर निशाना, बिहार में गरमाई सियासत

पटना। केंद्रीय गृहमंत्री व भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पूर्व अध्‍यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने बिहार का उदाहरण देकर महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में शिवसेना (Shiv Sena) की उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) सरकार पर हमला किया। अमित शाह ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2021) में बीजेपी ने राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार के मुख्‍यमंत्री (CM) के रूप में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) का चेहरा आगे किया था। चुनाव में अधिक सीटें आने के बावजूद बीजेपी ने वादा निभाया, क्‍योंकि वह वादे की पक्‍की पार्टी है। जबकि, शिवसेना ने महाराष्‍ट्र में जनादेश (Mandate) का अपमान किया। अमित शाह के इस बयान से बिहार में सियासत गरमा गई है।

महाराष्‍ट्र में अमित शाह ने कही ये बात

महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग जिले के कंकावली में मेडिकल कॉलेज के उद्घाटन समारोह में अमित शाह ने महाराष्‍ट्र की गठबंधन सरकार को जनादेश के साथ धोखा करार दिया। कहा कि जनता का फैसला देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के नेतृत्व वाली बीजेपी-शिवसेना गठबंधन सरकार के लिए था। 2019 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी और शिवसेना ने मुख्यमंत्री पद साझा करने को लेकर कोई वादा नहीं किया था। मुख्यमंत्री पद को लेकर बीजेपी ने शिवसेना से कोई वादा नहीं किया था। अमित शाह ने कहा कि वे बंद कमरों में वादे नहीं करते, खुले में बातें करते हैं। बीजेपी अपने वादों काे निभाती है। अमित शाह ने कहा कि बिहार में बीजेपी ने चुनाव के पहले ही कहा था कि नीतीश कुमार एनडीए की सरकार के मुख्‍यमंत्री बनेंगे। चुनाव में बीजेपी को जनता दल यूनाइटेड (JDU) से अधिक सीटें मिलीं, लेकिन हमनें अपने वादे काे निभाया

बयान से बिहार में गरमाई सियासत

अमित शाह के बयान से बिहार में सियासत गरमा (Politics Boils) गई है। बीजेपी व जेडीयू ने शाह का समर्थन किया है तो राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) एवं कांग्रेस (Congress) ने तंज कसे हैं। जेडीयू के प्रवक्‍ता राजीव रंजन के अनुसार अमित शाह ने सही कहा है। नीतीश कुमार को मुख्‍यमंत्री बनाने का फैसला चुनाव के पहले ही हो चुका था। नीतीश कुमार बिहार में एनडीए के नेता हैं। बीजेपी ने चुनाव पूर्व किया अपना वादा पूरा किया। बीजेपी के प्रवक्‍ता प्रेमरंजन पटेल ने भी कहा कि महाराष्‍ट्र में शिवसेना तो बीजेपी को किए वायदे से मुकर गई, लेकिन बीजेपी ने बिहार में किया वायदा निभाया। सत्‍ताधारी दलों से अलग विपक्षी महागठबंधन के नेताओं ने अमित शाह के बयान को प्रेशर पॉलिटिक्‍स (Pressure Politics) माना है। आरजेडी के प्रवक्‍ता मृत्‍युंजय तिवारी ने कहा कि अमित शाह ने नीतीश कुमार पर दबाव बनाने के लिए यह बयान दिया है। उधर, कांग्रेस के प्रवक्‍ता राजेश राठौड़ ने कहा कि अमित शाह जो भी कहें, बीजेपी वायदे भूलने में माहिर रही है।