Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

तेलंगाना: कांग्रेस ने की TRS विधायक धर्म रेड्डी के खिलाफ कार्रवाई की मांग, पिछड़े वर्ग का किया अपमान

हैदराबाद। कांग्रेस नेता वी हनुमंत राव ने मांग की है कि राज्य सरकार तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के विधायक धर्म रेड्डी पर समाज के कमजोर वर्गों के खिलाफ उनके ‘अपमानजनक’ बयानों के लिए कार्रवाई करे। समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए, पूर्व सांसद और वरिष्ठ कांग्रेस नेता वी हनुमंत राव ने कहा कि भारत को आजादी मिले लगभग 72 साल हो गए हैं और इतने सालों के बाद भी तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता और विधायक धर्म रेड्डी ने समाज के कमजोर वर्गों का यह कहकर अपमान किया है कि वे पढ़ना-लिखना नहीं जानते और ऐसे समुदायों को आरक्षण प्रदान करने से सरकार की प्रतिष्ठा प्रभावित हो रही है।

कांग्रेस नेता वी हनुमंत राव ने आगे कहा कि विधायक ने न केवल हमारा बल्कि डॉ. बीआर अंबेडकर का भी अपमान किया है। उन्होंने इस तरह के बयान देकर समाज के कमजोर वर्ग के लोगों के स्वाभिमान को ठेस पहुंचाई है। राव ने कहा कि तेलंगाना सरकार को धर्म रेड्डी के खिलाफ उनके बयानों के लिए कार्रवाई करनी चाहिए। यदि ऐसा नहीं हुआ, तो हम तेलंगाना विधानसभा के स्पीकर को एक ज्ञापन सौंपेंगे और टीआरएस विधायक के खिलाफ कार्रवाई होने तक विरोध प्रदर्शन करेंगे।

धर्म रेड्डी ने सोमवार को अपने बयानों के लिए एक माफी जारी की, जिसमें पिछड़ी जातियों के अधिकारियों की आलोचना की गई थी। एक सार्वजनिक बैठक में, रेड्डी ने दावा किया कि उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों (ईडब्ल्यूएस) के लोगों के लिए आरक्षण लागू करने के लिए बयान दिए। उन्होंने कहा, ‘मैं जाति-आधारित यूनियनों और दूसरों से खुले दिल से सोचने का अनुरोध करता हूं। मैंने केवल ईडब्ल्यूएस को बढ़ावा देने की बात की थी। मैंने किसी भी  जाति के लिए आरक्षण में कटौती के लिए नहीं कहा। मैंने गरीब लोगों (ईडब्ल्यूएस श्रेणी) को अतिरिक्त 10 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए कहा। अगर किसी को लगता है कि मेरा बयान गलत था और अगर मेरे बयानों से उन्हें दुख पहुंचा है, तो मैं अपने शब्दों को वापस लूंगा और अपने बयान के लिए माफी मांगता हूं। मेरे द्वारा दिए गए बयानों के लिए मुझे खेद है।’