Logo
ब्रेकिंग
आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी

रक्षा क्षेत्र में Startups को बढ़ावा देने के साथ-साथ आत्मनिर्भर भारत पर बेंगलुरु में बोले राजनाथ सिंह

बेंगलुरु। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में पहुंच गए हैं। यहां पर वह एयरो इंडिया 2021 (Aero India 2021) के तहत आयोजित किए गए स्टार्ट एप मैराथन (Startup Manthan) में हिस्सा लेने पहुंचे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार पूरी तरह से सचेत है कि रक्षा विनिर्माण क्षेत्र (Defence manufacturing sector) में स्टार्टअप्स (startups) को लाने की अति आवश्कता है। उन्होंने कहा कि इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए निजी उद्योग के साथ साझेदारी करते हुए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

राजनाथ सिंह ने बताया कि दुनिया भर की प्रमुख कंपनियों की साझेदारी को आमंत्रित करने के लिए भारत की रक्षा औद्योगिक पहल का हिस्सा बनने के लिए बड़ी संख्या में पहल की गई हैं। इस लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए अगस्त 2020 में FDI को 49 फीसद से 74 फीसद तक बढ़ाया गया था।

राजनाथ ने रक्षा निर्माण में भारत की आत्मनिर्भरता के महत्व पर चर्चा करते हुए कहा “भारत की सामरिक स्वायत्तता को बनाए रखने के लिए रक्षा उपकरणों के निर्माण में आत्मनिर्भरता अति आवश्यक है। उन्होंने हा कि iDEX पहल हमारे देश में निर्मित सबसे प्रभावी और अच्छी तरह से क्रियान्वित रक्षा स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी प्रणालियों में से एक है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रक्षा इंडिया स्टार्टअप चैलेंज DISC में कम से कम इस बार 1200 स्टार्टअप और इनोवेटर्स ने भाग लिया है। इनमें से कम से 60 स्टार्टअप  DISC चुनौतियों के के तहत 30 तकनीकी क्षेत्रों में है।

 

अपने संबोधन के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि इस बार आयोजित हुए एयरो इंडियो शो में कम से कम 45 एमएसएमइ (MSME) क्षेत्र से व्यापरियों ने हिस्सा लिया, जिन्हें पहले ही कम से कम 203 करोड़ का ऑर्डर भी मिला है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फंड स्कीम के जरिए 384 स्टार्टअप्स ने 4500 करोड़ रुपये के निवेश किया है। उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था जल्द ही स्टार्टअप द्वारा संचालित होने जा रही है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि भारतीय स्टार्टअप तीन प्रमुख स्तंभों पर आधारित है। पहली सरलीकरण दूसरी हैंडहोल्डिंग फंडिंग और तीसरी उद्योग-अकादमी प्रोत्साहान भागीदारी है।

बता दें कि 3 फरवरी से बेंगलुरु में आयोजित हुए एयरो इंडिया शो का आज आखिरी दिन है। तीन दिनों तक इस शो को आयोजित करने की इस बार इजाजत दी गई थी। दरअसल, कोरोना के चलते इस बार शो के समय को कम किया गया है।