Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

ठोस कचरा प्रबंधन को लेकर एनजीटी ने की केरल सरकार की खिंचाई

नई दिल्ली। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने ठोस कचरा प्रबंधन मामले में केरल सरकार की खिंचाई करते हुए कहा है कि प्रशासन नागरिकों के स्वच्छ पर्यावरण के अधिकार की रक्षा करने में विफल रहा है। एनजीटी चेयरमैन जस्टिस एके गोयल की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि पिछले दो सालों में बार-बार निर्देश दिए जाने के बावजूद ठोस कचरा प्रबंधन नियम, 2016 के अनुपालन और ठोस कचरा निपटान की दिशा में कोई सार्थक कदम नहीं उठाया गया।

राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार, नमूने से साफ है कि पर्यावरण के मापदंड पूरे नहीं किए जा रहे हैं। महानगरपालिका अभी भी अनधिकृत ऑपरेशन चला रहा है। बायो माइनिंग का काम शुरू नहीं हुआ है। मुआवजा का आकलन तो हुआ, लेकिन उसकी वसूली नहीं हुई। पीठ ने कहा कि मुख्य सचिव के हलफनामा से यह नहीं दिखता कि जमीनी स्तर पर कोई प्रभावी कार्रवाई की गई है। स्थिति संतोषजनक नहीं है। पर्यावरण नियमों का पालन नहीं होना, कानून-व्यवस्था कायम करने से अलग नहीं है। पर्यावरणीय नियमों का लगातार उल्लंघन न सिर्फ नागरिकों के अधिकारों का उल्लंघन है, बल्कि जन स्वास्थ्य के लिए भी खतरनाक है।