Logo
ब्रेकिंग
रांची रामगढ़ फोरलेन पर चेटर में सड़क दुर्घटना, दो घायल रामगढ़ के दो घरों में डकैती, परिवार को बंधक बनाकर लाखो की लूटपाट, CCTV में अपराधी हुए कैद । रजरप्पा मंदिर के पुजारी रंजीत पंडा का हृदय गति रुकने से नि-धन, शोक की लहर हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण

गणतंत्र दिवस पर इतिहास रचेंगी भावना कांत, बनेंगी परेड में शामिल होने वाली पहली महिला फाइटर पायलट

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होकर महिला फाइटर पायलट भावना कांत इतिहास रचने को तैयार हैं। वह वर्तमान में राजस्थान एयरबेस में तैनात हैं और मिग -21 बाइसन लड़ाकू विमान उड़ाती हैं, जो भारतीय वायु सेना (IAF) की झांकी का हिस्सा होगा। इसमें  हल्के लड़ाकू विमान, हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर और सुखोई 30 फाइटर प्लेन शामिल होंगे। केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने ट्विटर पर उन्हें इसके लिए बधाई दी है और इसे पूरे देश के लिए गौरवशाली क्षण बताया।

28 वर्षीय भावना कांत भारतीय वायुसेना के फाइटर पायलट दल में शामिल तीन महिलाओं में से एक हैं। वह अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ 2016 में वायुसेना में शामिल हुईं। बिहार के दरभंगा की रहने वाली, कांत बेगूसराय में पैदा हुईं और बरौनी रिफाइनरी डीएवी पब्लिक से अपनी स्कूली शिक्षा और बेंगलुरु के बीएमएस कॉलेज से इंजीनियरिंग की। वह बचपन से ही पायलट बनना चाहती थीं। साल 2018 में उन्होंने अकेले लड़ाकू विमान उड़ाकर इतिहास रचा था। उन्होंने इस दौरान 30 मिनट तक लड़ाकू विमान (मिग 21) था। वह ऐसा करने वाली भारतीय वायुसेना की दूसरी महिला पायलट बनी। इससे पहले फ्लाइंग ऑफिसर अवनी चतुर्वेदी मिग-21 बाइजन एयरक्राफ्ट अकेले उड़ाकर यह करनामा किया था।

गणतंत्र दिवस परेड में राफेल शामिल होगा

बता दें कि इस साल गणतंत्र दिवस परेड में फ्लाईपास्ट का समापन लड़ाकू विमान राफेल से होगा। पहली बार होगा जब यह लड़ाकू विमान गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होगा। गौरतलब है कि पिछले साल फ्रांस से आठ राफेल विमान भारत आए। भारत ऐसे 36 विमान खरीदने का सौदा किया। यह सौदा 59 हजार करोड़ का है। अगले दो साल में 36 विमान वायुसेना के बेड़े में शामिल हो जाएंगे। वायुसेना के अनुसार परेड में वायुसेना के कुल 38 विमान शामिल होंगे। फ्लाईपास्ट को दो हिस्सों में होगा। पहली परेड की योजना सुबह 10.04 बजे से लेकर 10.20 बजे तक और दूसरा 11.20 बजे से 11,45 बजे तक होगा।