Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर निर्माण की समय सीमा निर्धारित, अगस्त तक पूरा हो जाएगा काम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार निर्माणाधीन परियोजनाओं को अब और रफ्तार देकर पूरा करना चाहती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के विस्तारीकरण और सुंदरीकरण के काम के लिए भी अगस्त, 2021 की समय सीमा निर्धारित की गई है। इसके सहित लखनऊ व मेट्रो प्रोजेक्ट और नमामि गंगे परियोजना की समीक्षा भी प्रोजेक्ट मानीटरिंग ग्रुप की बैठक में मुख्य सचिव आरके तिवारी ने की।

राजधानी लखनऊ में लोक भवन में मंगलवार को आयोजित बैठक में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के विस्तारीकरण और सुंदरीकरण की प्रगति की समीक्षा में बताया गया कि दिसंबर, 2020 तक 31.51 फीसद काम पूरा कर लिया गया है। जनवरी, 2021 तक 37 फीसद प्रगति हासिल कर ली जाएगी। परियोजना को पूरा करने की तिथि 10 अगस्त, 2021 निर्धारित है।

अधिकारियों ने बताया कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर परियोजना के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है। इसके तहत मंदिर परिसर, मंदिर चौक, यात्री सुविधा केंद्र, स्प्रिचुअल बुक स्टॉल, जलपान केंद्र, पर्यटक सुविधा केंद्र, गेस्ट हाउस, सिटी म्यूजियम, टॉयलेट ब्लॉक, मुमुक्षु भवन, भोगशाला, सेवादल व पुजारी ऑफिस, नीलकंठ पैवेलियन, वाराणसी गैलरी, मल्टीपरपज हॉल, सुरक्षा कार्यालय, यूटिलिटी ब्लॉक, गोदौलिया गेट, वैदिक केंद्र, सांस्कृतिक केंद्र, घाट आदि का काम कराया जा रहा है।

कानपुर व आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट की समीक्षा : कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट की समीक्षा में बताया गया कि यह प्रोजेक्ट 30 नवंबर, 2021 तक पूरा हो जाएगा। उसके बाद ट्रायल रन होगा। फिर आरडीएसओ ट्रायल रन करेगा और अपनी रिपोर्ट देगा। कॉमर्शियल रन जनवरी, 2022 में संभावित है। वहीं, आगरा मेट्रो रेल डिपो और पायलिंग का काम तेजी से चल रहा है। मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्यों से संबंधित विभाग परियोजनावार मासिक भौतिक और वित्तीय लक्ष्य निर्धारित कर पाक्षिक प्रगति की समीक्षा करें। नमामि गंगे योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि जिलास्तरीय टास्क फोर्स की नियमित बैठकें हों।

मथुरा-अयोध्या के पर्यटन कार्यों की भी पूछी प्रगति : वाराणसी के साथ ही मथुरा और अयोध्या में चल रहे सांस्कृतिक पर्यटन के विकास कार्यों की प्रगति भी मुख्य सचिव ने पूछी। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि अयोध्या में रामकथा गैलरी, बहुउद्देशीय हॉल, दिगंबर अखाड़ा, राम की पैड़ी में प्रस्तावित सभी काम हो गए हैं। इसके अलावा मथुरा में भी विभिन्न परियोजनाएं प्रगति पर हैं।