Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

तांडव’ से जुड़े सभी लोगों पर चले देशद्रोह का मुकदमा, हिंदू धर्म व संस्कृति को बदनाम करने की साजिश

नई दिल्ली। ‘तांडव’ वेब सीरीज को लेकर पूरे देश में आक्रोश है। जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। पूरे मामले पर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि सैफ अली खान सहित इससे जुड़े सभी लोगों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाए। विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कड़े शब्दों में कहा कि इस तरह की वेब सीरीज के माध्यम से हिंदू धर्म व संस्कृति को बदनाम करने की साजिश चल रही है। राष्ट्रीय स्वाभिमान का उपहास उड़ाया जा रहा है। इनके माफी मांगने से कुछ नहीं होगा।

विहिप ने कहा- सीरीज से जुड़े सभी लोगों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए

विहिप ने कहा कि इस सीरीज से जुड़े सभी लोगों को गिरफ्तार किया ही जाना चाहिए। केंद्र सरकार को भी ऐसा प्रभावी कानून बनाना चाहिए कि ऐसे गिरोहों के लोग कितना भी प्रयास क्यों नहीं करें, ये हिंदू धर्म को बदनाम करने में सफल नहीं हो सकें। ग्रेटर नोएडा में फिल्म के निर्देशक, लेखक, अभिनेता व अभिनेत्री समेत सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। मामले में डिंपल कपाड़िया व अभिनेता सैफ अली खान को भी आरोपित बनाया गया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उधर लखनऊ पुलिस मुंबई पहुंचकर आरोपितों का ब्योरा खंगाल रही है। पुलिस बुधवार को आरोपितों के बयान भी दर्ज कर सकती है।

‘तांडव’ को लेकर यूपी में विरोध प्रदर्शन

‘तांडव’ को लेकर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में जुलूस, नारेबाजी, पुतला दहन और प्रदर्शन हुए। हिंदू संगठनों ने सीरीज के निर्देशक पर धाíमक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद समेत प्रमुख संत-महात्माओं ने भी नाराजगी दिखाते हुए सरकार से जल्द कार्रवाई की मांग की है। कई जिलों में मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। उल्लेखनीय है कि सीरीज के निर्देशक अली अब्बास जफर विवादित डायलाग पर माफी मांग चुके हैं, लेकिन लोग इससे संतुष्ट नहीं है। वहीं प्रयागराज में संत-महंतों में भी जबरदस्त नाराजगी है। वह भविष्य में ऐसी वेब सीरीज को रोकने के लिए सरकार से जरूरी कदम उठाने की मांग कर रहे हैं। सोमवार को दंडी स्वामियों ने प्रदर्शन भी किया था। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि कहते हैं कि माफी मात्र से बात नहीं बनेगी। पूरी सीरीज पर ही प्रतिबंध लगना चाहिए।

उत्तराखंड में प्रतिबंध लगाएगी सरकार

उत्तराखंड सरकार राज्य में इस वेब सीरीज पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है। सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के अनुसार सभी तकनीकी पक्षों पर विचार कर इस संबंध में कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ का किसी को अधिकार नहीं है।

मप्र सरकार दर्ज करेगी केस

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि इस तरह की वेब सीरीज बनाकर हिंदू धर्म की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया गया है। राज्य सरकार इस मामले में केस दर्ज करेगी। केंद्र सरकार से भी अपील है कि इस तरह के मामलों के लिए कोई नीति बनाई जाए। गृह मंत्री ने यह भी कहा कि हम केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजकर तांडव के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग करेंगे। वहीं मंगलवार को जबलपुर में पुलिस ने वेब सीरीज के निर्देशक अली अब्बास, लेखक गौरव सोलंकी और कलाकारों समेत अन्य के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज कर लिया है।