Logo
ब्रेकिंग
Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l

वेब सीरीज पर देवभूमि में भी सियासी उबाल

 देहरादून: हाल में रिलीज हुई वेब सीरीज ‘तांडव’ में देवी-देवताओं के कथित अपमान पर देवभूमि में भी उबाल है। दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों भाजपा और कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर किसी को भी धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ करने का अधिकार नहीं है।

उनका कहना है कि ऐसी सीरीज पर प्रतिबंध लगाने के साथ ही इसके निर्माताओं पर कार्रवाई की जानी चाहिए।भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि इस वेब सीरीज में क्या दिखाया गया है, उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। अगर इसमें इसमें देवी-देवताओं का अपमान किया गया है तो यह बेहद गलत बात है। किसी भी मजहब के देवी-देवताओं का अपमान ठीक नहीं है। ऐसी सीरीज अथवा सामग्री पर तुंरत रोक लगनी चाहिए, जिससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचती हो। सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर जनभावनाओं से खिलवाड़ करने का किसी को अधिकार नहीं है।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि यदि वेब सीरीज में देवी-देवताओं के बारे में कोई आपत्तिजनक बात कही गई अथवा दशाई गई है तो यह उचित नहीं है। धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ करने का किसी को हक नहीं है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि इस प्रकार की कोई भी फिल्म, सीरीज, चित्र अथवा ऐसी अभिव्यक्ति, जिससे जनभावनाएं आहत होती हों, उस पर तुरंत रोक लगनी चाहिए। वेब सीरीज में ऐसा कुछ दर्शाया गया है तो इस पर रोक लगाने के साथ ही इसके निर्माताओं के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।