Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l

भाजपा ने विधान परिषद चुनाव में उतारे दस प्रत्याशी, छह और नाम घोषित

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश विधान मंडल के उच्च सदन में भी अपनी ताकत में इजाफा करने का पूरा मन बना लिया है। प्रदेश में 28 जनवरी को होने वाले विधान परिषद के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी दस प्रत्याशी उतार रही है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तथा केंद्रीय कार्यालय प्रभारी अरुण सिंह ने शनिवार को छह और नाम की सूची जारी की। इसमें कानपुर के कद्दावर नेता सलिल विश्नोई का भी नाम है। भाजपा ने शनिवार को जो सूची जारी की है, उसमें प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला, कुंवर मानवेंद्र सिंह, सलिल विश्नोई, अश्वनी त्यागी, डॉ. धर्मवीर प्रजापति तथा सुरेंद्र चौधरी को प्रत्याशी बनाया है। गोविंद नारायण शुक्ल भाजपा के प्रदेश संगठन में कार्य कर रहे हैं और उनको सदन में भेजे जाने की लंबे समय से चर्चा की जा रही थी।

विधान परिषद चुनाव के लिए भाजपा के दस प्रत्याशी रविवार को अपना नामांकन दाखिल कर सकते हैं। समाजवादी पार्टी ने अहमद हसन तथा राजेंद्र चौधरी को मैदान में उतारा है। अहमद हसन तथा राजेंद्र चौधरी ने शुक्रवार को अखिलेश यादव की मौजूदगी में अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। नामांकन की अंतिम तिथि 18 जनवरी है।

इससे पहले भाजपा ने शुक्रवार को चार प्रत्याशियों का नाम घोषित किया था। पीएम मोदी के करीबी रहे पूर्व आइएएस अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा, उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा विधान परिषद सदस्य लक्ष्मण आचार्य के नाम शामिल थे।