Logo
ब्रेकिंग
DISNEY LAND MELA का रामगढ़ फुटबॉल मैदान में हुआ शुभारंभ विस्थापितों की 60% की भागीदारी सुनिश्चित नहीं हुई, तो होगा CCl का चक्का जाम Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा*

गणतंत्र दिवस समारोह में बाधा डाल सकते हैं आंदोलनकारी किसान, खुफिया विभाग से मिला इनपुट

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के विरोध में सीमा पर डटे किसान गणतंत्र दिवस समारोह में भी बाधा डाल सकते हैं। दिल्ली पुलिस को खुफिया विभाग से इस तरह का इनपुट मिला है। इसके बाद जहां दिल्ली पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है, वहीं पहली बार नई दिल्ली जिले को 25 जनवरी की रात ही सील किए जाने का निर्णय लिया गया है। दिल्ली में चप्पे-चप्पे पर पैरा मिलिट्री की भी तैनाती करने की कवायद शुरू कर दी गई है। गत दिनों दिल्ली पुलिस की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में भी अर्जी दायर की गई है। इसमें अनुरोध किया गया है कि शीर्ष अदालत द्वारा किसानों को समारोह के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी पैदा न करने की हिदायत दी जाए। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने किसान नेताओं का पक्ष मांगा है।

दिल्ली की सिंघु, टीकरी व गाजीपुर आदि सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान धरने पर बैठे हैं। कुछ किसान नेताओं ने गत दिनों गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने की बाद आंदोलन खत्म करने की बातें कही हैं। इसके बाद से पुलिस अलर्ट हो गई है। सूत्रों के मुताबिक इंटेलीजेंस को इस तरह के इनपुट मिल रहे हैं कि कुछ आंदोलनकारी किसान गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर-ट्राली लेकर दिल्ली कूच करने की कोशिश कर सकते हैं। हांलाकि, पुलिस किसी भी सूरत में किसानों को ट्रैक्टर लेकर दिल्ली की सीमा में प्रवेश करने की इजाजत नहीं देगी। यह भी सूचना मिल रही है कि कुछ किसान मोबाइल के जरिये 10-10 या 20-20 की संख्या में आपस में संपर्क में रहेंगे। अलग-अलग होकर वे परेड देखने के बहाने राजपथ पर पहुंचेंगे। इसके बाद अचानक 100-200 किसान राजपथ पर पहुंचकर नारेबाजी कर सकते हैं। इसे देखते हुए तमाम तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं, सभी थानों की पुलिस को हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है। साथ ही निर्देश दिया गया है कि कानून हाथ में लेने वालों से सख्ती से निपटा जाए। वाटर कैनन, फायर ब्रिगेड व आंसू गैस के गोले आदि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। खुफिया विभाग से मिल रही सूचनाओं के मुताबिक किसान होटलों, गेस्ट हाउसों या रिश्तेदारों के यहां पहले से आकर ठहर सकते हैं।

सत्यापन के बाद मिलेगा

नई दिल्ली जिले में प्रवेश किसान संगठनों व उनकी आड़ में उपद्रवी तत्वों के समारोह में प्रवेश की आशंका को देखते हुए सत्यापन के बाद ही नई दिल्ली जिले में लोगों को गणतंत्र दिवस पर प्रवेश करने दिया जाएगा। समारोह संपन्न होने तक राजपथ की ओर जाने वाले रास्तों पर जगह-जगह चेकिंग की जाएगी। उस तरफ वही लोग जा सकेंगे, जिनके पास रक्षा मंत्रालय द्वारा सत्यापित पास होगा।