गोरखपुर के Love Jihad के आरोपित की गिरफ्तारी के लिए कर्नाटक रवाना हुई पुलिस टीम

गोरखपुर। लव जिहाद के आरोपित की गिरफ्तारी के लिए चिलुआताल पुलिस कर्नाटक के लिए रवाना हो चुकी है। कर्नाटक जाने वाली टीम में बरगदवा चौकी इंचार्ज राजकुमार सिंह व एक महिला कांस्टेबल शामिल है।

एक सेवानिवृत्त सैनिक ने बताया कि कर्नाटक के बीजापुर जिले के इंडी रेलवे स्टेशन के पास रहने वाले महबूब ने अपनी पहचान छिपाकर उनकी बेटी को नौकरी का झांसा देकर फंसाया और धर्मांतरण के उद्देश्य से उसे बहला-फुसलाकर भगा ले गया। उनकी तहरीर पर चिलुआताल पुलिस ने अपहरण व उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश 2020 (लव जेहाद) के तहत महबूब के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी ने बताया कि टीम कर्नाटक के लिए रवाना हो गई है। उन्होंने पीडि़ता के कर्नाटक से आने के बाद ही यह ज्ञात हो सकेगा कि यह लव जेहाद का मामला है अथवा कुछ और।

यह था मामला 

पूर्व फौजी ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी कालेज में पढ़ती है। बीते चार जनवरी को वह बेटी को छोडऩे कालेज गए थे। देर शाम तक उसके घर न लौटने पर उसकी तलाश शुरू की गई, लेकिन कहीं पता नहीं चला। दूसरे दिन उसकी गुमशुदगी की सूचना दी गई। छानबीन के दौरान पता चला कि कर्नाटक में बीजापुर जिले के इंडी रेलवे स्टेशन के करीब रहने वाले महबूब ने अपनी पहचान छिपाकर उनकी पुत्री को फंसाया और धर्मांतरण के उद्देश्य से उसे बहला-फुसलाकर भगा ले गया। पूर्व फौजी ने बताया कि पता चला कि आरोपित नौकरी के नाम पर उनकी पुत्री को झांसा देता रहा है। उन्होंने कहा अनहोनी की भी आशंका जताई है कि उनकी बेटी के साथ कुछ गलत हो सकता है। चिलुआताल थाना पुलिस घटना मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है।

ओम इंफार्मेशन सेंटर पर आरपीएफ का छापा, एक गिरफ्तार

टिकटों की कालाबाजारी रुकने का नाम नहीं ले रही। कारोबारी अवैध साफ्टवेयर की मदद से अनियमित तरीके से कंफर्म टिकट बुक कर रहे हैं। बदले में मुंहमांगा किराया वसूल रहे हैं। रेलवे सुरक्षा बल की क्राइम इंटेलीजेंस ब्रांच ने जंगल कौड़िया स्थित ओम इंफार्मेशन सेंटर पर छापा मारकर एक कारोबारी को 10 ई टिकटों के साथ गिरफ्तार किया है। मुख्य जनसंपर्क जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार पकड़े गए व्यक्ति के खिलाफ रेलवे एक्ट के तहत कार्रवाई सुनिश्चित की गई है। आरपीएफ टीम ने गोरखपुर स्टेशन पर भटक रहे 12 वर्ष के एक किशोर को चाइल्ड लाइन के हवाले किया है।

Whats App