Logo
ब्रेकिंग
रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न । रामगढ़ एसपी ने पांच पुलिस निरीक्षकों को किया पदस्थापित रामगढ़ में एक डीलर और 11 अवैध राशन कार्डधारियों को नोटिस जारी पुलिस अधीक्षक के कार्रवाई से पुलिस महकमा में हड़कंप, चार पुलिस कर्मी Suspend रामगढ़ छावनी फुटबॉल मैदान में लगा हस्तशिल्प मेला अब सिर्फ 06फ़रवरी तक l असामाजिक तत्वों ने देवी देवताओं की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्त, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम l

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 18 से नहीं खुलेंगे पहली से आठवीं तक के स्कूल

पटना ।  राज्य के पहली से आठवीं तक के स्कूल 18 जनवरी से नहीं खुलेंगे। प्रदेश के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि 25 जनवरी या इसके एक दो रोज पहले आपदा प्रबंधन समूह (क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप) की बैठक होगी। जिसमें जूनियर कक्षाओं के स्कूल खोलने के बारे में विमर्श किया जाएगा इसके बाद ही कोई फैसला होगा।

वैसे भी 16 जनवरी से राज्य में वैक्सीनेशन का कार्य शुरू होना है। जिसमें पूरी सरकारी मशीनरी लगी होगी। लिहाजा यह तय हुआ है कि 23 जनवरी से 25 जनवरी के बीच आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में तमाम पहलुओं का अध्ययन करने के बाद ही कक्षा एक से आठ तक के स्कूल खोलने पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

पहले 18 से जूनियर स्‍कूल भी खोलने की थी योजना

सरकार ने कोरोना की वजह से 213 दिनों तक स्कूल बंद रहने के बाद बीत वर्ष दिसंबर महीने में कक्षा नौ से 12 तक के स्कूलों के साथ कॉलेज और कोचिंग संस्थान संचालन की अनुमति प्रदान की थी। उसी दौरान यह फैसला हुआ था कि चार जनवरी 2021 से कक्षा नौ से ऊपर की कक्षाएं सरकारी के साथ प्राइवेट स्कूलों में लगेंगी। सीनियर कक्षाएं खुलने के बाद इनका आकलन कर स्थितियां सामान्य रहने पर 18 जनवरी से जूनियर स्कूल खोलने पर सरकार फैसला लेगी।

बड़ी संख्‍या में बच्‍चे स्‍कूल नहीं आ रहे

मुख्य सचिव ने दैनिक जागरण को बताया कि सीनियर स्कूल खुलने के बाद से अब तक 27 जिलों में स्थितियों का आकलन कराया गया है। जिसमें यह पाया गया कि 50 प्रतिशत उपस्थिति के बंधेज के बाद भी बड़ी संख्या में बच्चे स्कूलों में नहीं आ रहे हैं। कुछ स्कूलों में कोरोना की गाइड लाइन का पालन करते हुए उपस्थिति सामान्य दिखी पर हकीकत यह है कि अभिभावक अभी बच्चों को स्कूल भेजने में डर रहे हैं। इन तमाम परिस्थितियों को देखते हुए फिलहाल जूनियर कक्षाएं 18 जनवरी से खोलने का फैसला स्थगित रखा गया है।