Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

यूपी को फर्स्ट फेस में 11 लाख कोरोना वैक्सीन, पहले नंबर पर नौ लाख हेल्थ वर्कर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मंगलवार को कोरोना के 1.6 लाख वैक्सीन की पहली खेप पहुंच गई है। लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर पुणे से इंडिगो की फ्लाइट से आई इस वैक्सीन को स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने प्राप्त किया। यूपी को पहले चरण में 11 लाख टीके मिलेंगे। पहले चरण में प्रदेश में नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। कोविन एप पर इन सभी का पंजीकरण कराया जा चुका है। 16 जनवरी से पूरे देश में टीकाकरण शुरू होगा। यूपी के सभी जिलों में 852 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जाएगी।

लखनऊ पहुंचे वैक्सीन के कंटेनरों को यहां से कोल्ड चेन वैन से जगत नारायण रोड स्थित नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में बने स्टेट वैक्सीन स्टोरेज सेंटर में रखा गया है। ये टीके लखनऊ मंडल के छह जिलों लखनऊ, रायबरेली, हरदोई, लखीमपुर खीरी, सीतापुर व उन्नाव में लगाए जाने के लिए आए हैं। अभी कोविशील्ड वैक्सीन आई है। जल्द कोवैक्सीन की खेप आने की उम्मीद है। स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि बुधवार से लेकर तीन दिनों में बाकी टीकों की खेप भी आने की पूरी उम्मीद है।

हर दिन दो सत्रों में लगेंगे 100-100 टीके : पहले चरण में प्रदेश में नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। कोविन एप पर इन सभी का पंजीकरण कराया जा चुका है। टीका लगाने के लिए 1500 केंद्रों पर 3,000 बूथ बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि हर दिन दो सत्रों में 100-100 टीके लगाए जाने का इंतजाम किया गया है। ऐसे में तीन दिन में स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जा सकता है। हालांकि ये टीके की आ रही खेप पर निर्भर करेगा।

28वें दिन लगेगी दूसरी डोज : स्वास्थ्य कर्मियों के बाद 18 लाख फ्रंटलाइन वर्करों को टीका लगाया जाएगा। फिर 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को और इसके बाद 50 साल से कम उम्र के उन लोगों को टीका लगाया जाएगा, जो गंभीर रोगों से ग्रस्त हैं। वैक्सीन की पहली डोज लगाए जाने के 28वें दिन दूसरी डोज लगाई जाएगी। टीका लगाए जाने के बाद हर लाभार्थी को एक कार्ड मिलेगा, उसमें कब और कितनी बजे दूसरी डोज लगाई जानी है, इसकी पूरी जानकारी होगी।

सोमवार व शुक्रवार को होगा टीकाकरण : कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरुआत भले ही 16 जनवरी शनिवार को हो रही हो, लेकिन इसके बाद हर हफ्ते सोमवार व शुक्रवार को कोरोना का टीका अस्पतालों में लगाया जाएगा। सभी अस्पतालों को इसके लिए तैयारी करने के निर्देश दिए गए हैं। महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डॉ.डीएस नेगी ने बताया कि टीकाकरण की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

कोरोना वैक्सीन रखने को बनाए गए 1,298 केंद्र : प्रदेश में कोरोना वैक्सीन के लिए प्रदेश में नौ स्टेट वैक्सीन सेंटर बनाए गए हैं। इन सेंटरों से कोल्ड चेन वैन के माध्यम से प्रदेश में सभी जिलों में स्टॉक के लिए बनाए गए 1,298 केंद्रों पर वैक्सीन भेजे जाएंगे। यहां से वैक्सीन को अस्पतालों में पहुंचाया जाएगा।

टीका लगने के बाद आधा घंटा केंद्र पर रुकना होगा : कोरोना टीकाकरण के लिए लाभार्थियों को मोबाइल फोन पर एसएमएस भेजकर केंद्रों पर बुलाया जाएगा। केंद्र पर तीन कमरे होंगे। पहले कमरे में लाभार्थी का सत्यापन होगा, दूसरे में उसे कोरोना का टीका लगाया जाएगा। फिर आब्जर्वेशन रूम में उसे आधा घंटा रोका जाएगा। यदि उसे कोई रिएक्शन होता है, तो वैक्सीन की शीशी को सील कर दिया जाएगा। केंद्र पर मौजूद एनाफाइलेक्सिस किट की मदद से उसे दुष्प्रभाव से बचाया जाएगा।