Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

PM मोदी ने युवाओं से स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मेलन में शामिल होने का किया आह्वान, 15-16 जनवरी को है कार्यक्रम

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 जनवरी और 16 जनवरी को युवाओं से स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मेलन ‘प्रारम्भ’ में भाग लेने का आह्वान किया है। इसमें युवा स्टार्ट अप लीडर के अलावा उद्योग, शिक्षा, निवेश, बैंकिंग और वित्त क्षेत्र के लोगों को भी शामिल होने को कहा गया है। उन्होंने लिंक्डइन पोस्ट को भी शेयर किया, जिसमें कहा गया कि COVID-19 महामारी के दौरान वर्चुअल इंटरैक्शन का चलन तेजी से रहा है और इसका एक बड़ा फायदा यह है कि लोग घर बैठे कार्यक्रमों का हिस्सा बन सकते हैं।

पीएम मोदी ने सोमवार को ट्वीट में कहा, ‘ज्यादातर घटनाओं को वस्तुतः आयोजित किए जाने के साथ युवाओं को कई दिलचस्प घरेलू और वैश्विक मंचों का हिस्सा बनने का शानदार मौका मिला है। ठीक ऐसा ही एक अवसर 15-16 जनवरी को ‘प्रारम्भ’ के रूप में सामने आ रहा है। मैं युवाओं से आग्रह करता हूं कि वो इसका हिस्सा बनें।’

2020 में कोरोना की वजह से ज्यादातर लोगों ने घर से रहकर काम किया, लोगों की कार्यशैली बिलकुल बदल गई, प्रधानमंत्री ने कहा कि घर से काम करने पर टेक्नोलॉजी का बड़ा सहारा मिला है।

मोदी ने कहा, मेरे लिए इसका मतलब ऑनलाइन कार्यक्रम थे, जो बेहद उत्पादक और व्यावहारिक थे। इस बीच वैज्ञानिकों, चिकित्सा पेशेवरों, COVID योद्धाओं, शिक्षाविदों, उद्योग के नेताओं, युवा इनोवेटर्स, आध्यात्मिक नेताओं से बात हुई। प्रधानमंत्री ने कहा, मैंने मौजूदा सरकारी योजनाओं के लाखों लाभार्थियों के साथ बातचीत की। शिखर सम्मेलन का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि स्टार्ट-अप इंडिया पहल शुरू होने के बाद से भारत को भी पांच साल के लिए चिह्नित किया जाएगा।