Logo
ब्रेकिंग
मॉबली*चिंग के खिलाफ भाकपा-माले ने निकाला विरोध मार्च,किया प्रदर्शन छावनी को किसान सब्जी विक्रेताओं को अस्थाई शिफ्ट करवाना पड़ा भारी,हूआ विरोध व गाली- गलौज सूक्ष्म से मध्यम उद्योगों का विकास हीं देश के विकास का उन्नत मार्ग है बाल गोपाल के नए प्रतिष्ठान का रामगढ़ सुभाषचौक गुरुद्वारा के सामने हुआ शुभारंभ I पोड़ा गेट पर गो*लीबारी में दो गिर*फ्तार, पि*स्टल बरामद Ajsu ने सब्जी विक्रेताओं से ठेकेदार द्वारा मासूल वसूले जाने का किया विरोध l सेनेटरी एवं मोटर आइटम्स के शोरूम दीपक एजेंसी का हूआ शुभारंभ घर का खिड़की तोड़ लाखों रुपए के जेवरात कि चोरी l Ajsu ने किया चोरों के गिरफ्तारी की मांग I 21 जुलाई को रामगढ़ में होगा वैश्य समाज के नवनिर्वाचित सांसद और जनप्रतिनिधियों का अभिनंदन l उपायुक्त ने कि नगर एवं छावनी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मनाने की तैयारियां शुरू, PM मोदी की अध्यक्षता में बनी समिति

नई दिल्ली। देश इस साल नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125वीं जयंती समारोह मनाने जा रहा है। इसको लेकर सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसको लेकर सरकार की ओर से एक उच्च स्तरीय समिति बनाई गई है, जिसकी अध्यक्षता पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे। संस्कृति मंत्रालय ने आज इसको लेकर जानकारी दी। संस्कृति मंत्रालय के मुताबिक, पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य में किया गया है। उच्च स्तरीय समिति 23 जनवरी, 2021 से शुरू होने वाली एक साल के स्मृति समारोह की गतिविधियों को लेकर फैसला करेगी।

कोलकाता में रहेंगे पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125वें जयंती समारोह के मौके पर बंगाल में रहेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 125वें जयंती समारोहों की शुरुआत 23 जनवरी को कोलकाता के ऐतिहासिक ‘विक्टोरिया मेमोरियल हॉल’ से करेंगे। कोरोना महामारी के बीच पीएम मोदी का यह पहला कोलकाता दौरा होगा।

पीएम मोदी ने बीते दिनों नेताजी की भतीजी चित्रा घोष के निधन पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की थी और उनके योगदान को याद किया था. बता दें पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद ट्वीट कर कहा था कि नेताजी सुभाष बोस की बहादुरी जगजाहिर है। हम इस प्रतिभाशाली विद्वान, सैनिक और महान जन नेता की 125 वीं जयंती जल्द ही मनाने जा रहे हैं।

1943 में पोर्ट ब्लेयर में तिरंगा फहराने की घटना

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 1943 में पोर्ट ब्लेयर में तिरंगा फहराने की घटना का किया था। उन्होंने कहा कि भारतवासियों के लिए यह विशेष दिन है जो हर भारतीय की याद में रहता है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा- 30 दिसंबर 1943 हर भारतीय की याद में एक ऐसा दिन, जब वीर नेताजी सुभाष बोस ने पोर्ट ब्लेयर में तिरंगे को फहराया था। इस विशेष दिन की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर मैं पोर्ट ब्लेयर गया था और तिरंगे को फहराने का सम्मान प्राप्त किया था।