रॉबर्ट वाड्रा ने राजनीति में आने की जताई इच्छा, बोले- अब संसद में जाकर लड़नी होगी लड़ाई

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की राजनीति में एंट्री करने की चर्चाएं एक बार फिर जोर पकड़ गई है। रॉबर्ट वाड्रा ने खुद इस बात का संकेत देते हुए कहा कि उन्हे संसद में पहुंचना चाहिए। उनका यह बयान मनी लॉन्ड्रिंग केस में जांच एजेंसियों की पूछताछ के बाद सामने आया है । वह इससे पहले भी  राजनीति में आने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं।

मुझे किया जा रहा प्रताड़ित: वाड्रा 
रॉबर्ट वाड्रा ने नई दिल्ली स्थित अपने सुखदेव विहार कार्यालय में एक चैनल के साथ बातचीत में कहा कि  मैं एक ऐसे परिवार से संबंधित हूं, जिसने पीढ़ियों से इस देश के लोगों की सेवा की है और देश के लिए शहीद भी हुए हैं।  मैंने देखा है, सीखा है, अभियान चलाया है। उन्होंने कहा कि मैंने  देश के विभिन्न हिस्सों में समय बिताया और मुझे लगता है कि  इसी शक्ति के साथ लड़ने के लिए संसद में रहना होगा।  उन्होंने मनी लॉन्ड्रिंग केस में जांच एजेंसियों की पूछताछ का हवाला देकर कहा कि उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है, इसलिए उन्हें लगता है कि अब उन्हें संसद पहुंचना चाहिए।

मैं हमेशा राजनीति से दूर रहा: वाड्रा 
वाड्रा ने आगे कहा कि स्पष्ट रूप से अब मुझे लगता है कि मैंने बहुत लंबे समय तक बाहर लड़ाई लड़ी है। मैंने खुद को समझाया है, लेकिन यह लगातार हो रहा है कि वे मुझे परेशान करते हैं, क्योंकि मैं राजनीति में नहीं हूं। मैं हमेशा राजनीति से दूर रहा क्योंकि मेरा एक निश्चित विश्वास है। उन्होंने कहा कि  जब मैं एक ऐसी जगह देखूंगा, जहां लोग मुझे प्रतिनिधित्व करने के लिए वोट देंगे और मैं उस क्षेत्र के लोगों के जीवन में एक अंतर ला सकता हूं और अगर मेरा परिवार इसे स्वीकार करता है।

वास्तविक मुद्दों से ध्यान हटाना चाहती है सरकार:  वाड्रा 
सोनिया गांधी के दामाद के कहा कि वह एक राजनीतिक परिवार का हिस्सा हैं और इसलिए उन्हें अन्य दलों से निपटना होगा। ‘वे भी मेरे बारे में बात करते हैं और देश के लोग और पत्रकार रुचि रखते हैं और हमारी टिप्पणियों को जानना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यह सब वास्तविक मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए है, जिसे सरकार को हर बार सामना करना पड़ता है। इसलिए अब इस कोविड युग में, किसानों के आर्थिक मुद्दे हैं, जो प्रदर्शन कर रहे हैं और आत्महत्या कर रहे हैं। जबकि सरकार सोचती है कि हमें किसी एजेंसी को भेजना चाहिए और वे भी मुझसे उसी तरह के सवाल पूछते हैं, जिनका मैंने पहले ही जवाब दे दिया है।

Whats App