बदायूं में महिला के बाद नाबालिग बालिका के साथ दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार; सहआरोपी फरार

बदायूं। किसी समय पांचाल देश की राजधानी रहे बदायूं में इन दिनों महिलाओं के प्रति अपराध की बाढ़ आ गई है। रविवार को यहां उघैती क्षेत्र के गांव में रहने वाली आंगनबाड़ी सहायिका पूजा करने गई थीं। जहां पर सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई तो बुधवार को माता के जागरण में गई एक नाबालिग के साथ पड़ोसी ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने इस मामले में आरोपित युवक को गिरफतार कर लिया है, जबकि सहआरोपी अभी फरार है।

बदायूं के उघैती क्षेत्र में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के बाद नया मामला सामने आया है। यहां के थाना सिविल लाइंस क्षेत्र में जागरण में गई एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया गया है। इसके आरोप में उसके पड़ोसी युवक को गिरफ्तार किया गया है। किशोरी के परिवार के लोगों ने पुलिस को बताया कि जागरण कार्यक्रम के दौरान जब उनकी बेटी नहीं मिली तो उन्होंने उसे खोजने की काफी कोशिश की। इसके कुछ देर बाद पिंटू के घर से लड़की रोती हुई बाहर निकली थी।

बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) संकल्प शर्मा ने बताया कि गत चार जनवरी को सिविल लाइंस क्षेत्र के एक गांव में 14 वर्ष की एक किशोरी पड़ोस में हो रहे जागरण में शामिल होने गई थी। इसी दौरान उसके पड़ोस में रहने वाला पिंटू नाम का युवक उसे बहला-फुसलाकर अपने घर ले गया और वहां पर 20 वर्ष के वीरपाल ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इस मामले की शिकायत बुधवार को लड़की के स्वजनों ने की। पुलिस ने तत्काल मामला दर्ज कर मुख्य आरोपी वीरपाल को पकड़ लिया। इस मामले में सहआरोपी पिंटू अभी फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।

वीरपाल को को दुष्कर्म और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (पाक्सो) अधिनियम के प्रावधानों के तहत आईपीसी की धारा के तहत गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस को बयान में किशोरी ने आरोप लगाया है कि 20 वर्षीय वीर पाल ने उसके साथ दुष्कर्म किया, जबकि पिंटू गेट पर खड़ा था। थाना सिविल लाइंस के इंस्पेक्टर सुधाकर पाण्डेय ने बताया कि लड़की को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है और हम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। वीर पाल को गिरफ्तार कर लिया गया था, जबकि पिंटू को पकडऩे के प्रयास चल रहे हैं।

Whats App