Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

PM मोदी ने1.5 किमी लंबी मालगाड़ी को दिखाई हरी झंडी, बोले- देश को मिली आज नई गति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय रेलवे के पश्चिमी मालवहन गलियारे (डीएफसी) के 306 किलोमीटर रेवाड़ी-मदार खंड का आज उद्घाटन किया और इस ट्रैक पर विश्व की प्रथम विद्युतीकृत डेढ़ किलोमीटर लंबी लॉन्ग हॉल मालगाड़ी को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।  मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक समारोह में उद्घाटन किया। इस दाैरान उन्होंने कहा कि  देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को आधुनिक बनाने के लिए चल रहे महायज्ञ ने आज एक नई गति हासिल की है।  प्रधानमंत्री के संबोधन की मुख्य बातें इस प्रकार:-

PunjabKesari

नए साल में देश का आगाज अच्छा: पीएम मोदी

  • बीते दिनों आधुनिक डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर के माध्यम से किसानों के खातों में सीधे 18,000 करोड़ रुपये से ज्यादा ट्रांसफर किए गये हैं।
  • जब नए साल में देश का आगाज अच्छा है। तो आने वाला समय भी शानदार और जानदार होना तय है।
  • डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के इस प्रोजेक्ट को 21वीं सदी में भारत के लिए गेम चेंजर के रूप में देखा जा रहा है।
  • पिछले 5 – 6 वर्षों के कड़े परिश्रम के बाद आज इसका एक बड़ा हिस्सा हकीकत बन चुका है

वैक्सीन ने देशवासियों में आत्मविश्वास पैदा किया: पीएम मोदी

  • चाहें WDFC हो या EDFC, ये सिर्फ आधुनिक मालगाड़ियों के लिए आधुनिक रूट नहीं है बल्कि ये देश के विकास के लिए डेडिकेटेड कॉरिडोर है।
  • ये कॉरिडोर देश में नए ग्रोथ सेंटर और ग्रोथ प्वाइंट का आधार भी बनेंगे।
  • कुछ ही दिन पहले भारत ने कोरोना की दो मेड इन इंडिया वैक्सीन को मंजूरी दी है।
  • भारत की अपनी वैक्सीन ने देशवासियों में आत्मविश्वास पैदा किया है।

PunjabKesari

इस मौके पर कई दिग्गज रहे मौजूद
मोदी ने न्यू अटेली और न्यू किशनगढ़ स्टेशन से विश्व की प्रथम विद्युतीकृत डेढ़ किलोमीटर लंबी दो लॉन्ग हॉल मालगाड़यिों को हरी झंडी दिखा कर दोनों दिशाओं में रवाना किया।  इस मौके पर रेल मंत्री पीयूष गोयल, हरियाणा के राज्यपाल के सत्यदेव नारायण आर्य एवं मुख्यमंत्री मनोहर लाल, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्रा एवं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला तथा भारत में जापान के राजदूत सतोशी सुजुकी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर दी थी जानकारी 
इस पूरे कार्यक्रम की जानकारी देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया  था कि इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन से चलने वाली 1.5 किलोमीटर लंबी दुनिया की पहली डबल स्टैक लॉन्ग हॉल कंटेनर ट्रेन वीरवार को रवाना की जाएगी। यह फिर से आर्थिक गतिविधियों को लाभान्वित करेगा और कई नागरिकों के लिए समृद्धि सुनिश्चित करेगा। इस वर्चुअल कार्यक्रम में प्रधानमंत्री डेढ़ किलोमीटर की दुमंजिला मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे जो न्यू अटेली से न्यू किशनगढ़ तक जायेगी।

PunjabKesari

उद्योगों को मिलेगा लाभ
इस ट्रेन का स्टेशन रेवाड़ी -मदार खंड हरियाणा जो लगभग 79 किलोमीटर है और राजस्थान जो लगभग 227 किलोमीटर, जयपुर, अजमेर, सीकर, नागौर और अलवर में है। इसमें नौ नवनिर्मित डीएफसी स्टेशन शामिल हैं, जिनमें से छह- न्यू डबला, न्यू भगेगा, न्यू श्री माधोपुर, न्यू पचार मलिकपुर, न्यू सकून और न्यू किशनगढ़-क्रॉसिंग स्टेशन हैं। वहीं रेवाड़ी, न्यू अटेली और न्यू फुलेरा- जंक्शन स्टेशन भी हैं। बताया जा रहा है कि इस खंड के शुरू होने से राजस्थान और हरियाणा के रेवाड़ी- मानेसर, नारनौल, फुलेरा और किशनगढ़ इलाके में स्थित अलग-अलग उद्योगों को लाभ होगा। इससे पहले मोदी ने 29 दिसंबर को पूर्वी डीएफसी का 351 किलोमीटर लंबा न्यू भावपुर-न्यू खुर्जा खंड राष्ट्र को समर्पित किया था।

 मालगाड़ी का परीक्षण हो चुका है पूरा
दुनिया में पहली बार दुमंजिला मालगाड़ी का परिचालन किया जा रहा है। इसका परीक्षण पूरा हो चुका है। इसकी क्षमता 25 टन एक्सेल लोड की है। पूर्वी और पश्चिमी डीएफसी का निर्माण जून 2022 तक पूरा होना है। पहले इसे दिसंबर 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन कोविड-19 के दौरान काम बाधित होने से अब निर्माण की समय सीमा बढ़ा दी गई है। इस पर मालगाड़यिों की अधिकतम गति 100 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। मौजूदा समय में देश में अधिकतम 75 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मालगाड़ियां चल रही हैं। साथ ही औसत गति भी 26 किलोमीटर प्रति घंटे से बढ़कर 75 किलोमीटर प्रति घंटे हो जायेगी।