Logo
ब्रेकिंग
स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l Royal इंटरप्राइजेज के सौजन्य से Addo ब्रांड के टेक्निकल मास्टर क्लास का रामगढ़ में आयोजन | रामगढ़ में हजारीबाग डीआईजी की पुलिस टीम पर कोयला तस्करों का हमला l ACB के हत्थे चढ़ा SI मनीष कुमार, केस डायरी मैनेज करने के नाम पर मांगा 15 हजार माता वैष्णों देवी मंदिर के 33वें वार्षिकोत्सव पर भव्य कलश यात्रा 14 को रामगढ़। झारखंड के इन जिलों में 12 से होगी झमाझम बारिश, जानें मौसम का मिजाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ श्री गुरु नानक पब्लिक स्कूल का वार्षिकोत्सव सम्पन्न ।

भारी बर्फबारी के चलते देश-दुनिया से कटा कश्मीर का संपर्क, सीआरपीएफ अधिकारी समेत दो की मौत

नई दिल्ली। पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी और बारिश आफत बन कर गिर रही है। इसमें सबसे अधिक प्रभावित जम्मू-कश्मीर है। बुधवार को लगातार चौथे दिन भी कश्मीर का शेष दुनिया से हवाई और सड़क संपर्क कटा रहा। वहीं मकान गिरने से सीआरपीएफ के एक अधिकारी समेत दो लोगों की मौत हो गई। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग गुरुवार को भी बंद रहेगा। इस पर कई जगह भूस्खलन हुआ है। कश्मीर के विभिन्न जिलों में 200 से अधिक सड़कों पर भारी बर्फ पड़ी है। इससे यातायात ठप है।

कई जिलों में हिमस्खलन की चेतावनी

हिमपात से कश्मीर में ही सौ से अधिक मकानों को नुकसान पहुंचा है। बिजली आपूर्ति भी प्रभावित हुई है। कश्मीर समेत जम्मू संभाग के पर्वतीय इलाकों में भारी हिमस्खलन की चेतावनी जारी की गई है। कश्मीर में बर्फबारी का सिलसिला दोपहर को थम गया था।

मकान गिरने से सीआरपीएफ अधिकारी समेत दो की मौत

श्रीनगर के हजरतबल इलाके में पूर्व विधायक मोहम्मद सईद आखून के घर की छत गिरने से सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर एचसी मुर्मू की मौत हो गई। बंगाल के मुर्मू सीआरपीएफ की 115 बटालियन के जवान थे और पूर्व विधायक की सुरक्षा में तैनात थे। कुपवाड़ा जिले में त्रेगाम इलाके के शाह मोहल्ला में घर की छत गिरने से 70 वर्षीय रहीमा बेगम की दबकर मौत गई।

घरों में ही बर्फ में बंद हो गए थे 30 परिवार

आपदा प्रबंधन विभाग की टीमों ने कुलगाम जिले में बर्फ में फंसे 30 परिवारों को सुरक्षित निकाल लिया है। जिले के कुंड क्षेत्र में ये परिवार सात फीट बर्फ गिरने से अपने घरों में ही बंद हो गए थे। इस इलाके में हिमस्खलन की चेतावनी जारी की गई है।

उत्तराखंड में हिमपात से गंगोत्री हाईवे छह घंटे रहा बाधित

उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में जहां तड़के झमाझम बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त रहा तो पहाड़ों में भारी हिमपात ने दुश्वारियां बढ़ाई। उत्तरकाशी और चमोली के करीब चार दर्जन गांवों में बिजली आपूर्ति ठप रही। कई गांवों का संपर्क भी कट गया है। गंगोत्री हाईवे धराली के पास हिमखंड आने से छह घंटे बाधित रहा। उत्तराखंड के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है।

बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री में बर्फ की बिछी चादर

बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और हेमकुंड के साथ ही रुद्रप्रयाग के चोपता, उत्तरकाशी जिले के हर्षिल, चमोली के औली में एक से डेढ़ फीट तक बर्फ की चादर बिछ गई है। बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री भी बर्फ से लकदक हैं।

पर्यटकों ने वाहनों में काटी रात 

हिमाचल प्रदेश में बर्फ के दीदार के लिए मंगलवार को सोलंगनाला गए करीब 1500 पर्यटकों को रात वाहनों में ही काटनी पड़ी। रातभर रेस्क्यू अभियान चलता रहा, लेकिन बर्फबारी और पर्यटक वाहनों की संख्या ज्यादा होने के कारण लंबा जाम लग गया। पुलिस कर्मचारी रातभर वाहनों को निकालने में जुटे रहे। बुधवार दोपहर तक पर्यटक वाहनों को मनाली पहुंचाने का कार्य जारी रहा। कुछ पर्यटक जो टैक्सी में गए थे वे तो आधी रात तक मनाली पहुंच गए, लेकिन अधिकतर पर्यटक अपनी गाड़ियां छोड़ने को तैयार नहीं थे। दो सौ से अधिक पर्यटक वाहन सोलंगनाला से पलचान के बीच फंसे रहे। पर्यटकों ने रात गाड़ी में ही बिताई।