स्मृति ईरानी के खिलाफ दायर एक केस को वकील ने क्यों बताया झूठ पर आधारित, जानिए पूरा मामला

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के वकील कीरत नागरा ने शनिवार को कहा कि निशानेबाज वर्तिका सिंह द्वारा उनके (मंत्री के) खिलाफ दायर मामला झूठ पर आधारित है। राजनीतिक संरक्षण इस मामले में कहीं अधिक स्पष्ट रूप में नजर आ रहा है। नागरा ने कहा कि यह मामला मंत्री की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने और उन्हें बदनाम करने की कोशिश है और वह इसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगी।

वर्तिका ने उत्तर प्रदेश में सुल्तानपुर की एक अदालत का रुख कर ईरानी और दो अन्य लोगों पर उन्हें (वर्तिका को) केंद्रीय महिला आयोग का सदस्य बनाने के एवज में रुपये मांगने का आरोप लगाया है। उल्लेखनीय है कि एक पुलिस शिकायत में कुछ दिन पहले वर्तिका को नामजद किया गया था। इस साल नवंबर में वर्तिका और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ अमेठी जिले के मुसाफिरखाना पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई गई थी।

इस विषय पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नागरा ने एक बयान में कहा कि यह झूठ के आधार पर उनके मुवक्किल की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने और उन्हें बदनाम करने की कोशिश है, जिसमें इस व्यक्ति ने आधिकारिक दस्तावेज का फर्जीवाड़ा भी किया है। नागरा ने कहा कि अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी की जांच से ध्यान भटकाने के लिए निशानेबाज ने काल्पनिक मामला दायर कराया है। उन्होंने कहा, एक आदतन अपराधी ने प्रचार पाने के लिए दुर्भावनापूर्ण कोशिश की है, जिसमें राजनीतिक संरक्षण स्पष्ट रूप से नजर आ रहा है।

Whats App