Logo
ब्रेकिंग
हाथी का दांत को वन विभाग के अधिकारी ने किया जप्त। नवरात्रि के उपलक्ष में भव्य डांडिया रास का 24 सितंबर को होगा आयोजन । हजारीबाग में 30 फीट गहरी नदी में पलटी बस 07 लोगों की हुई मौत, गैस कटर से काटकर शव को निकाला गया। दो नाबालिग लड़की के दुष्कर्म मामले में फरार दोनो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शांतनु मिश्रा राजीव गांधी पंचायती राज संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष मनोनीत मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे नवनियुक्त जिला परिषद अध्यक्षों ने मुलाक... प्रखंड सह अंचल कार्यालय, रामगढ़ का उपायुक्त ने किया निरीक्षण पल्स पोलियो अभियान का रामगढ़ उपायुक्त ने किया शुभारंभ MRP से ज्यादा में शराब बेचने वालों की खैर नहीं, उपायुक्त ने दिया जांच अभियान चलाने का निर्देश । हेमंत कैबिनेट का बड़ा फैसला- 1932 के खतियानधारी ही झारखंडी,OBC को 27 प्रतिशत आरक्षण, जानें अन्य फैसल...

बाइबिल का पाठ करके यीशु का दिया संदेश, प्रयागराज के चर्चों में हो रही प्रार्थना

प्रयागराज। मसीही समुदाय के आराध्य प्रभु ईसा मसीह के जन्मोत्सव पर चहुंओर खुशी का वातावरण है। शुक्रवार को सूर्योदय होते ही मसीही समुदाय के लोग चर्च में पहुंचने लगे। सेंट जोसफ चर्च में कैथलिक मसीहियों ने प्रार्थना की। बिशप डॉ. राफी मंजली ने बाइबिल का पाठ करके श्रद्धालुओं को प्रभु यीशु का मानवता, प्रेम व सेवा का संदेश दिया। वहीं, पत्थर गिरजाघर में बिशप डॉ. पीटर बलदेव बाइबिल का पाठ करके प्रार्थना कराई। चर्च में केक काटकर यीशु के जन्म की खुशी मनाई गई। हर कोई एक-दूसरे को यीशु के जन्म की बधाई दे रहा है।

कोरोना संक्रमण के कारण तमाम बंदिशों के साथ चर्चों में यीशु का जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। हालांकि हर बार की अपेक्षा चर्चों में मसीहियों की भीड़ अपेक्षा से काफी कम है। फिर भी घरों में खुशियां मनाई जा रही है। मसीही समुदाय के लोग कैरल सिंगिंग करके घर में यीशु के जन्म की खुशी मना रहे हैं। इसका सिलसिला दिन भर चलता रहेगा।

म्योराबाद स्थित सेंट जांस चर्च में पादरी प्रवीण मैसी ने प्रार्थना कराई। मध्य रात्रि में प्रभु यीशु का जन्म होने पर उन्होंने चर्च का घंटा बजाया। उसे सुनकर लोगों में खुशियां छा गई। इसी प्रकार जमुना चर्च में पादरी एम. डिकोस्टा, होली ट्रीनिटी चर्च में पादरी मनीष जैदी ने प्रार्थना करवाकर यीशु के जन्म की शुभकामना दी। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर चर्चों में श्रद्धालु मास्क लगाकर प्रार्थना करने आए। गेट पर सेनेटाइज करके सबको अंदर प्रवेश मिला। चर्च के अंदर शारीरिक दूरी मानक का पालन करते हुए बैठने का प्रबंध किया गया है।