Logo
ब्रेकिंग
Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l

किसान आंदोलन- कांग्रेस का हल्ला बोल, हिरासत में ली गईं प्रियंका गांधी समेत कांग्रेसी नेता रिहा

कृषि कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रही कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई कांग्रेसी नेताओं को गुरुवार को पुलिस ने हिरासत में लिया था, हालांकि बाद में सभी को रिहा कर दिया गया। दरअसल कांग्रेसी नेता किसानों के समर्थन में मार्च निकालना चाहते थे जिसकी उनको परमिशन नहीं मिली। नई दिल्ली में धारा 144 लगी हुई है और मार्च को निकालने की इजाजत नहीं मिलने के बावजूद प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेसी नेता राष्ट्रपति भवन की तरफ रवाना होने पर अड़े थे जिसके चलते पुलिस ने उनको हिरासत में लिया था। हिरासत से छूटने के बाद प्रियंका गांधी समेत अन्य कांग्रेसी नेता सड़क पर ही धरने पर बैठ गए।

PunjabKesari

इस दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि मोदी सरकार अपनी जिद्द पर अड़ी हुई है। मोदी सरकार दिल से किसानों की इज्जत नहीं करती। साथ ही प्रियंका ने कहा कि जब भी कोई सरकार से सवाल करता है, उसे देशद्रोही बता दिया जाता है।

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाब नबी आजाद और अधीर रंजन के साथ राष्ट्रपति को मिलने पहुंचे और उनको ज्ञापन सौंप कर तीनों कृषि कानून वापिस लेने की मांग की। बता दें कि हजारों की संख्या में किसान दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर धरने पर बैठे हुए हैं। किसान केंद्र से तीनों कृषि कानून वापिस लेने की मांग पर अड़े हुए हैं। वहीं सरकार किसानों को कई बार कह चुकी है कि इस कानून से उनको लाभ ही होगा और विपक्ष इस मामले में सिर्फ राजनीति कर रहा है।