सोनू सूद बोले, किसी पार्टी में जाने का इरादा नहीं, आलोचनाओं की परवाह नहीं करता

yamaha

मुंबई। प्रवासी कामगारों को बस से लेकर ट्रेन और हवाई जहाज के माध्यम से उनके घर पहुंचा रहे अभिनेता सोनू सूद ने राजनीति में आने की अटकलों को सिरे से खारिज कर दिया है। सोनू ने दैनिक जागरण से खास बातचीत में कहा, ‘मैं इन आलोचनाओं को अहमियत नहीं देता। मैं अपने प्रवासी भाई और बहनों की मदद करता रहूंगा। लोग क्या सोचते हैं, मैं इसकी परवाह नहीं करता हूं। मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि मेरा इरादा किसी भी राजनीतिक पार्टी में जाने का नहीं है। मुख्यमंत्री ठाकरे के साथ मेरी मुलाकात अच्छी थी। उन्होंने मेरे काम की सराहना की। साथ ही कहा कि यदि कोई मदद चाहिए तो वह साथ देंगे।

सोशल मीडिया पर मदद मांगकर आभार जताने वालों के ट्वीट्स डिलीट होने के सवाल पर सोनू ने कहा कि ऐसा शायद इसलिए हो रहा है, क्योंकि कई लोगों ने अपना पर्सनल फोन नंबर साझा किया था। हो सकता है दूसरे लोग उन्हें कॉल करके परेशान कर रहे हों। ऐसे भी लोग होंगे जो केवल रिप्लाई पाने के लिए अपना नंबर पोस्ट करते होंगे और रिप्लाई मिलने पर डिलीट कर देते हों। इन सब वजहों के चलते जरूरतमंद की पहचान करना मुश्किल भी हो रहा है। मुझे हर किसी को जवाब देना पड़ता है, ताकि जरूरतमंद कहीं छूट न जाएं। मैं यही कहना चाहता हूं कि केवल जरूरतमंद लोग ही मैसेज करें।

गौरतलब है कि राज्य में सत्तारूढ़ शिवसेना के मुखपत्र सामना में प्रकाशित कॉलम में पार्टी नेता संजय राउत ने लिखा था कि सोनू सूद अच्छे अभिनेता है, इसलिए आशंका है कि उनके कायरें के पीछे कोई राजनीतिक निर्देशक हो। वह बहुत चालाकी से ‘महात्मा सूद’ बनने की ओर बढ़े हैं। हो सकता है कि वह बहुत जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलें और मुंबई के सेलिब्रिटी मैनेजर बन जाएं। इसके बाद रविवार रात सोनू ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे से मुलाकात की थी।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.