सोनिया गांधी की केंद्र को नसीहत-मनरेगा को BJP VS कांग्रेस का मुद्दा न बनाएं, इससे गरीबों की करें मदद

yamaha

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार से मांग की कि लोगों की मदद के लिए मनरेगा स्कीम का इस्तेमाल किया जाए। एक अंग्रेजी अखबार में लेख के जरिए अपनी बात रखते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि मनरेगा भाजपा बनाम कांग्रेस की बात नहीं है और न ही इसे मुद्दा बनाया जाए। सरकार मनरेगा जैसी योजना को देशवासियों की मदद के लिए इस्तेमाल करे। सोनिया गांधी ने अंग्रेजी अखबार में लिखे लेख ओपिनियन पीस में लिखा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना एक क्रांतिकारी और तर्कसंगत व्यवस्था परिवर्तन का शानदार उदाहरण है। सोनिया ने लिखा कि एक सरकार जिसने इस योजना को बदनाम करने की कोशिश की, ये उसी सरकार के काम आई, उसने खुद अनिच्छा से ही इस पर भरोसा करने के लिए इन्हें मजबूर कर दिया।

सोनिया ने लिखा कि मनरेगा तर्कसंगत है क्योंकि यह उन लोगों के हाथों में सीधे पैसा डालता है जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि देश इस समय जब कोरोना संकट से जूझ रहा है तो भुखमरी और बर्बादी को रोकने के लिये ये योजना बेहद अहम है। सोनिया ने लिखा कि यह संकट का समय मदद करने का है न कि राजनीति करने का इसलिए सरकार इस योजना का उपयोग करके लोगों को बड़ी राहत दे सकती है। बता दें कि सोनिया गांधी से पहले राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई कांग्रेसी नेता मांग कर चुके हैं कि जो जरूरतमंद हैं उन्हें इस संकट की घड़ी में सीधे हाथ में पैसा दिया जाए। मनरेगा योजना यूपीए सरकार के दौरान शुरू की गई थी।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.