Logo
ब्रेकिंग
Income tax raid फर्नीचर व गद्दे में थीं नोटों की गड्डियां, यहां IT वालो को मिली अरबों की संपत्ति! बाइक चोरी करने वाले impossible गैंग का भंडाफोड़, पांच अपरा'धी गिरफ्तार।। रामगढ़ की बेटी महिमा को पत्रकारिता में अच्छा प्रदर्शन के लिए किया गया सम्मानित Bjp प्रत्याशी ढुल्लु महतो के समर्थन में विधायक सरयू राय के विरुद्ध गोलबंद हूआ झारखंड वैश्य समाज l हजारीबाग लोकसभा इंडिया प्रत्याशी जेपी पटेल ने किया मां छिनमस्तिका की पूजा अर्चना l गांजा तस्कर के साथ मोटासाइकिल चोर को रामगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार स्वीप" अंतर्गत वोटर अवेयरनेस को लेकर जिले के विभिन्न प्रखंडों में हुआ मतदाता जागरूकता रैली का आयोजन... *हमारा लक्ष्य विकसित भारत और विकसित हज़ारीबाग: जयंत सिन्हा* आखिर कैसे हुई पुलिस हाजत में अनिकेत की मौ' त? नव विवाहित पति पत्नी का कुएं में मिला शव l

सोनिया गांधी की केंद्र को नसीहत-मनरेगा को BJP VS कांग्रेस का मुद्दा न बनाएं, इससे गरीबों की करें मदद

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार से मांग की कि लोगों की मदद के लिए मनरेगा स्कीम का इस्तेमाल किया जाए। एक अंग्रेजी अखबार में लेख के जरिए अपनी बात रखते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि मनरेगा भाजपा बनाम कांग्रेस की बात नहीं है और न ही इसे मुद्दा बनाया जाए। सरकार मनरेगा जैसी योजना को देशवासियों की मदद के लिए इस्तेमाल करे। सोनिया गांधी ने अंग्रेजी अखबार में लिखे लेख ओपिनियन पीस में लिखा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना एक क्रांतिकारी और तर्कसंगत व्यवस्था परिवर्तन का शानदार उदाहरण है। सोनिया ने लिखा कि एक सरकार जिसने इस योजना को बदनाम करने की कोशिश की, ये उसी सरकार के काम आई, उसने खुद अनिच्छा से ही इस पर भरोसा करने के लिए इन्हें मजबूर कर दिया।

सोनिया ने लिखा कि मनरेगा तर्कसंगत है क्योंकि यह उन लोगों के हाथों में सीधे पैसा डालता है जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि देश इस समय जब कोरोना संकट से जूझ रहा है तो भुखमरी और बर्बादी को रोकने के लिये ये योजना बेहद अहम है। सोनिया ने लिखा कि यह संकट का समय मदद करने का है न कि राजनीति करने का इसलिए सरकार इस योजना का उपयोग करके लोगों को बड़ी राहत दे सकती है। बता दें कि सोनिया गांधी से पहले राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई कांग्रेसी नेता मांग कर चुके हैं कि जो जरूरतमंद हैं उन्हें इस संकट की घड़ी में सीधे हाथ में पैसा दिया जाए। मनरेगा योजना यूपीए सरकार के दौरान शुरू की गई थी।