धर्म के नाम पर नफरत फैलाने वालों के गाल पर तमाचा है गोरखपुर के इस मुसलिम पार्षद की पहल

yamaha

गोरखपुर। अनलॉक दो में आठ जून से धार्मिक स्थलों को खोलने के निर्देश के बीच गोरखपुर में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और मुसलिम पार्षद ने मिसाल पेश की है। पार्षद ने अपने हाथ में मशीन उठाई और मंदिर के अंदर पहुंच गए। मूर्तियों के अगल-बगल के साथ ही पूरे फर्श और दीवारों को सोडियम हाइपो क्लोराइट के घोल से सैनिटाइज किया।

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं जियाउल इस्लाम

यह हैं मुफ्तीपुर वार्ड के पार्षद जियाउल इस्लाम। लॉकडाउन में खुद के संसाधनों से वार्ड को कई बार सैनिटाइज कर चर्चा में आए जियाउल इस्लाम ने रविवार सुबह से ही मंदिरों व मस्जिदों को सैनिटाइज कराना शुरू किया। जियाउल इस्लाम ने वार्ड की सभी मस्जिदों और बड़े-छोटे मंदिरों के बाहरी हिस्सों में नगर निगम के कर्मचारियों से छिड़काव कराया लेकिन अंदर वह खुद मशीन लेकर गए।

चप्पल निकाल ने की देते रहे हिदायत

मंदिर के सामने छिड़काव के लिए पहुंचे जियाउल इस्लाम कर्मचारियों को चप्पल दूर निकालने का निर्देश देते रहे। मंदिर के बाहर लगी मूर्तियों पर किसी भी हाल में छिड़काव न करने की भी वह लगातार हिदायत देते रहे

अपने संसाधनों से कराया था छिड़काव

लॉकडाउन की शुरुआत में हर जगह से सोडियम हाइपो क्लोराइट के घोल का छिड़काव करने की मांग उठ रही थी। नगर निगम के पास संसाधनों की कमी होने के कारण एक साथ हर जगह छिड़काव संभव नहीं था तब जियाउल इस्लाम ने जुगाड़ के सहारे वार्ड में कई बार छिड़काव कराया। टुल्लू पंप, कूलर का पंखा एक ठेले पर रखकर उन्होंने छिड़काव किया। इसकी नगर निगम के अफसरों ने भी सराहना की थी।

सोमवार से मंदिर-मस्जिद समेत सभी धार्मिक स्थल खुल जाएंगे। पूजा, इबादत और प्रार्थना के लिए श्रद्धालु आएंगे इसलिए सभी धार्मिक स्थलों को सैनिटाइज करा रहा हूं। धार्मिक स्थलों के अंदर खुद मशीन लेकर छिड़काव किया। – जियाउल इस्लाम पार्षद मुफ्तीपुर, गोरखपुर।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.