पश्चिम बंगाल के भाजपा प्रमुख ने लगाया ममता पर कोविड-19 के आंकड़े छिपाने का आरोप

yamaha

कोलकाताः पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने शनिवार को राज्य की ममता बनर्जी सरकार पर कोविड​​-19 संक्रमण के मामलों की संख्या में हेर फेर करने और जानबूझकर जांच परिणामों में देरी करने का आरोप लगाते हुए मांग की कि राज्य सरकार कोरोना वायरस की स्थिति पर एक ‘‘श्वेत पत्र” प्रकाशित करे।

घोष ने मीडिया से कहा कि जांच परिणामों में देरी के कारण वायरस के सामुदायिक स्तर पर फैलने की आशंका पैदा हो रही है और कई लोगों की जांच परिणाम आने से पहले ही मौत हो रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार संक्रमण की वास्तविक स्थिति को छिपाने के लिए हर रोज भ्रामक आंकड़े जारी कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार जांच प्रक्रिया में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद को शामिल नहीं कर रही है ताकि ‘‘वास्तविकता सामने न आए”।

उन्होंने कहा, ‘‘ इन परिस्थितियों में हम राज्य सरकार से कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या, वायरस से होने वाली मौत की कुल संख्या, हर दिन की गई जांचों की कुल संख्या, परिणाम आने में लगने वाले समय आदि की जानकारी पर एक श्वेत पत्र पेश करने की मांग करते हैं।” घोष ने बनर्जी पर चक्रवात अम्फान में कुल प्रभावित लोगों के बारे में गलत आंकड़े देने का भी आरोप लगाया।

raja moter

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.